करप्शन फ्री इंडिया के द्वारा जिला अधिकारी को संबोधित पत्र जिला प्रशासनिक अधिकारी अनुराग सारस्वत को सौंपा

 


विजन लाइव/ ग्रेटर नोएडा

ग्रेटर नोएडा के डेल्टा 1 स्थित मॉडर्न पब्लिक स्कूल प्रशासन के द्वारा चुहडपुर खादर निवासी धर्मेंद्र भाटी एवं अन्य अभिभावकों के साथ धोखाधड़ी कर स्कूल में दाखिले करा लिए जब बच्चों ने कक्षा 10 उत्तीर्ण की तो स्कूल में पढ़ाने से मना कर दिया।  इस संबंध में करप्शन फ्री इंडिया संगठन के द्वारा जिला अधिकारी महोदय को संबोधित पत्र जिला प्रशासनिक अधिकारी अनुराग सारस्वत को सौंपा। करप्शन फ्री इंडिया संगठन के संस्थापक चौधरी प्रवीण भारतीय ने बताया कि चुहडपुर खादर निवासी धर्मेंद्र भाटी ने अपने दोनों बच्चों आयुष्मान भाटी पीयूष भाटी एवं सोनवीर कसाना ने भी अपने दोनों बच्चों हर्ष कसाना कुणाल कसाना आदि बच्चों का मॉडर्न स्कूल डेल्टा फर्स्ट ग्रेटर नोएडा में सन 2019 में कक्षा 9 में दाखिला करवाया था।  दाखिले के समय स्कूल प्रशासन द्वारा अभिभावकों को बताया गया था कि हमारे स्कूल को कक्षा 12 तक की मान्यता प्राप्त है जबकि स्कूल को केवल कक्षा 8 तक की मान्यता प्राप्त है।  इस प्रकार स्कूल ने धोखाधड़ी करके बच्चों का दाखिला स्कूल में करा लिया। उन्होंने बताया कि सन 2021 में जब बच्चों ने कक्षा 10 उत्तीर्ण की तो स्कूल प्रशासन ने जानकारी दी कि हमारी इस शाखा के पास केवल कक्षा 8. तक की मान्यता प्राप्त है, आप अपने बच्चों का हमारी नोएडा ब्रांच मे दाखिला करा दो ,जोकि चुहडपुर खादर से से करीब 35 किमी दूर है ,जब इस प्रकरण में अभिभावकों ने स्कूल की प्रधानाचार्या से बातचीत की तो प्रधानाचार्य ने हमसे दुर्व्यवहार करते हुए सुरक्षाकर्मियों से जबरदस्ती बाहर निकलवाने की धमकी दी। चौधरी प्रवीण भारतीय ने कहां की बच्चों के बार बार स्कूल बदलने एवं प्रधानाचार्या के दुर्व्यवहार से अभिभावक एवं बच्चों को काफी मानसिक शोषण किया है। चौधरी प्रवीण भारतीय बताया कि कोरोना कॉल में अभिभावकों की आर्थिक क्षति हुई जिस कारण अब दूसरे किसी स्कूल की भारी भरकम दाखिला की फीस देने की स्थिति में भी नही हैं। इस संबंध में अभिभावकों ने मुख्यमंत्री पोर्टल पर भी कई बार शिकायतें दर्ज कराई गई जिस के निस्तारण में जिला विद्यालय निरीक्षक महोदय ने हमको अपने कार्यालय में बुलाया एवं हमसे स्कूल में पढ़ने संबंधित दस्तावेज सबूत के तौर पर मांगे जो कि हमने उनको उपलब्ध करा दिए लेकिन फिर भी जिला विद्यालय निरीक्षक महोदय ने निस्तारण के आख्या में लिखा है कि हमारे बच्चे इस स्कूल में पढ़े ही नहीं है तथा स्कूल के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं की। विद्यालय निरीक्षक महोदय के लापरवाह एवं मिलीभगत को देखते हुए आज जिलाधिकारी महोदय से शिकायत कर स्कूल के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई करने हेतु मांग की गई है। ताकि भविष्य में अन्य बच्चों के साथ ऐसा खिलवाड़ नहीं किया जाए।

 

इस दौरान- चौधरी प्रवीण भारतीय धर्मेंद्र भाटी एडवोकेट विशाल नागर एडवोकेट धीरज खटाना बॉबी गुर्जर आदि लोग मौजूद रहे।

>