मास्टर स्ट्रोक फेल हो गया यानी किसानों की आय दोगुनी करने का फार्मूला, पकोड़ा तलने में ही निकल गया, वोट प्रतिशत घटे तो बादलों में जाकर छुप गए

 





2022 चुनाव नजदीक है, जिन्ना जिंदा हो गया- असदुद्दीन ओवैसी से सभी पार्टियां हैं, भयभीत

 





जय जवान जय किसान, भारत देश की मजबूत पहचान, अनेकता में एकता हम सब की तरक्की  देश की शान जय हिंद  

 




चौधरी शौकत अली चेची


यूपी मेंं इन दिनों टेट पेपर लीक होन को लेकर एक तरह से कोहराम सा मचा हुआ है। लीक तो लीक है भाई यह कोई पहली बार परचा लीक नही हुआ है इससे पहले न कितनी ही बार नौकरियों के होने वाली परीक्षा के लिए परचे लीक होते रहे हैं। किंतु न तो सरकारों ने ही इसे संजीदगी से लिया और न ही अफसरों और नेताओं ने। बेचारा परीक्षार्थी रात दिन एक कर तैयारी करता है और नकल माफिया या परचा लीक माफिया कर अपना काम कर करोडो में खेल जाते हैं और न जाने कितने ही नौकरी की आस में लगे युवाओं के अरमानों पर पानी फिर जाता है। आखिर यह सब कब सुधरेंगे, सरकार में बैठे लोगों को क्या इन माफियों की नकेल नही कसनी चाहिए। युवाओ की नौकरी की बात करें तो यूपी में लगभग 24 करोड जनता 7000000 नौकरी देने का वादे के बीच झूल रही है। किंतु सवाल उठा रहा है कि क्या 450000 लोगों को नौकरी, किस कैटिगरी वालों को मिली है? लेकिन ढोल कुछ ओर ही बजाया जा रहा है। यूपी की योगी सरकार की ठोको नीति से कितने घर परिवार उजड़े, फर्जी मुकदमे, फर्जी एनकाउंटर, आवारा पशुओं से कितने लोगों की जानें गई और कितने किसानों की फसलों में नुकसान हुआ और किसान पशुओं से कितना प्रतिशत लाभ लेता था तथा आवारा पशु गौशाला में गायों की दुर्गति मृत्यु कितनी प्रतिशत हुई और आवारा बने पशुओं से पड़ोसियों में कितने प्रतिशत लड़ाई झगड़े हुए, जाति धर्म विशेष की छुटपुट घटनाएं कितने प्रतिशत हुई, कानून का दुरुपयोग कर एक तरफा कितने प्रतिशत यानी मुकदमे दर्ज हुए, पुलिस कस्टडी में कितने प्रतिशत लोगों की हत्या हुई और कितने प्रतिशत महिलाओं पर अपराध हुए, भ्रष्टाचार, अत्याचार जघन्य अपराध, कितने प्रतिशत हुए और साथ ही भाजपा सरकार ने कितने प्रतिशत झूठ बोला इन तमाम सवालों का जवाब है क्या? बात अभी खत्म नही हुई आखिर गोदी मीडिया ने गुमराह, नफरत करके कितने प्रतिशत झूठ बोला, धारा 370 और 35ंए समाप्त करने से कश्मीर में कितनी खुशहाली आई यानी कितना प्रतिशत कश्मीर विकास की राह पर आगे बढा यह सब सच्चाई भी जनता के सामने आनी चाहिए या नही? जब पेपर लीक हो सकता है तो इन सभी बातों का भी डाटा लीक होना ही चाहिए। सच यह भी है कि नोटबंदी, जीएसटी, लॉकडाउन ने पूरी अर्थ व्यवस्था को ध्वस्त कर दिया है, लेकिन सत्ता पक्ष और गोदी मीडिया तथा अंध भक्तों द्वारा फायदे गिनाए जा रहे हैं। किसानों ने तीन कृषि काले कानून मांगे नहीं है आनन फानन केंद्र की नरेंदं्र मोदी सरकार ले आई और जबरन थोपने में लग गईं। आखिर करीब 1 वर्ष बाद जब मोदी जी का मास्टर स्ट्रोक फेल हो गया यानी किसानों की आय दोगुनी करने का फार्मूला, पकोड़ा तलने में ही निकल गया, वोट प्रतिशत घटे तो बादलों में जाकर छुप गए। फिर कृषि कानून वापस लेने की याद आई और रातों रात किसानों की याद आ उठी। नाली से गैस निकालना लीक, 400 का सिलेंडर हजार रुपए का हो गया, डीजल, पेट्रोल लीक बेचना था 40/रूपये लीटर, लेकिन 100 का आंकड़ा पार कर गया, मशरूम खाने के चक्कर में टमाटर ने भी सैकड़ा मार कर कहा कि लाल हैं, पेट्रोल व प्याज से कम नहीं दो करोड़ लोगों का रोजगार देने वाला फार्मूला लीक हो गया। भाई साहब समझो तो लगभग 25 करोड लोग बेरोजगार हो गए। 600 करोड़ रूपए का राफेल विमान लीक, 1600 करोड रुपए में खरीदना पड़ा। लाल किला गिरवी रख दिया लीक, नई संसद बनानी पड़ रही है। दिल्ली में भाजपा का आलीशान कार्यालय लगभग 1500 करोड़ रुपए में बना तथा लगभग 500 आलीशान कार्यालय देश में  भाजपा के बन रहे हैं या बन चुके हैं लीक,  सच्चाई उजागर करने वालों पर झूठे आरोप लगाकर अपराधी की श्रेणी में खड़ा किया जा रहा है। लगभग 70 प्रतिशत सरकारी संस्थाएं गिरवी रख दी तथा नाम बदले जा रहे हैं यह भी लीक। 8000 करोड रुपए का निजी विमान देश विदेश में क्यों घूम रहा है? 


945000 का सूट 3 करोड़ 35 लाख में बेच दिया लीक, निजी प्रचार के लिए मीडिया द्वारा लगभग 600 करोड रुपए हर वर्ष खर्च कर दिए जाते हैं बड़ी बड़ी रैली करने के लिए सरकारी वाहनों कर्मचारियों आदि को भीड़ जुटाने के लिए लगा दिए यह सब लीक, मोर नचाने, तोते को दाना खिलाने, गधो से प्रेरणा लेने के चक्कर में बहुत सारी बातें लीक, किसी की ठोको नीति, किसी की फेकू नीति, किसी की कड़ी निंदा नीति, किसी की झूठ, नफरत गुमराह नीति यह सब भी लीक, लगभग 20 लाख हजार करोड़ रुपए की योजनाएं घोषणाएं कागजों में ही सिमट गई, विकास पैदा हुआ भी है या नहीं? टॉर्च मोमबत्ती दीपक जलाने से भी नहीं दिखाई दे रहा आखिर ताली बजवाने का सिलसिला कब तक जारी रहेगा? इंटरनेशनल जेवर एयरपोर्ट का नक्शा बीजिंग एयरपोर्ट चीन में जाकर खुला, यूपी का नेशनल हाईवे कोलकाता में जाकर खुला, यूपी की फैक्ट्री का नक्शा अमेरिका में जाकर खुला, बुंदेलखंड परियोजना का डैम आंध्र प्रदेश में जाकर खुला, चीन ने डोकलाम अरुणाचल भारत की सीमा में अंदर घुसकर गांव बसा दिए यह सब लीक, नेपाल ने भारत की सीमा में घुसकर लगभग 71000  एकड़ जमीन पर कब्जा कर लिया- लीक, अनेकों घटनाएं लीक , 2022 का चुनाव आने वाला है 56 इंची सीने, लाल आंख वाली सोच की क्यों फजीहत हो रही है? 2022 चुनाव नजदीक है, जिन्ना जिंदा हो गया- असदुद्दीन ओवैसी से सभी पार्टियां भयभीत हैं। मैं तो यही कहूंगा जनता के गली मोहल्ले चौराहों में शोर मचा बहारों में, सबर करो अब देश के लोगों सत्ता आनी जानी है, जिनकी फितरत शातिर लोगो बन रही नई कहानी है। हम सभी देश की फुलवारी हैं, प्यार मोहब्बत की किलकारी है। झूठ गुमराह नफरत से बर्बादी मिलती है, एकता जागरूकता भाईचारे से अमन.चैन तरक्की मिलती है। जो करे नशा हो बुरी दशा, भाई इनसे बच के रहा करो, सुल्फा गांजा भांग धतूरा। भाई दारू मत ना पिया करो। दिल से दिल को जोड़ कर देखो खुशियों की बहार आ जाएगी दिल में नफरत लेकर चले तो अपनी और दूसरों की जिंदगी नरक बन जाएगी। हमारे पूर्वजों ने बलिदान देकर भारत देश को आजाद किया। इस समय की जहरीली राजनीति ने अपने पूर्वजों की आत्माओं को आखिर क्या संदेश दिया? जय जवान जय किसान, भारत देश की मजबूत पहचान, अनेकता में एकता हम सब की तरक्की  देश की शान जय हिंद।

लेखकः- चौधरी शौकत अली चेची भारतीय किसान यूनियन (बलराज) के उत्तर प्रदेश अध्यक्ष हैं।