विजन  लाइव / दनकौर
 हिन्दू युवा वाहिनी गौतमबुद्धनगर  के कार्यकर्ताओ ने भगवान महर्षि वाल्मीकि की जयंती गाँव अच्छेजा बुजुर्ग में मनाई।  इस मौके पर महर्षि वाल्मीकि की प्रतिमा पर फूल माला व  ज्योत जलाकर उनके चरणों मे शीश झुकाकर आशीर्वाद लिया।  जिला संगठन महामंत्री नवीन शर्मा ने बताया कि  भगवान महर्षि वाल्मीकि  संस्कृत रामायण के प्रसिद्ध रचियता है,जो आदिकवि के रूप में प्रसिद्ध है। उन्होंने संस्कृत में रामायण की रचना की , महर्षि वाल्मीकि द्वारा रची रामायण वाल्मीकि, रामायण कहलाई , रामायण एक महाकाव्य है जो कि राम के जीवन के माध्यम से हमे जीवन के सत्य व कर्तव्य से परिचित करवाता है। आदि कवि शब्द आदि और कवि के मेल से बना है।आदि का अर्थ होता है प्रथम और कवि का अर्थ होता है काव्य का रचियता। वाल्मीकि ने संस्कृत के महाकाव्य की रचना की  जो रामायण के नाम से प्रसिद्ध है, प्रथम संस्कृत महाकाव्य की रचना करने के कारण वाल्मीकि आदिकवि कहलाये । इस मौके पर जिला उपाध्यक्ष सन्नी राणा,जिला सहसंयोजक मूलचंद सोलंकी ,मंडल महामंत्री प्रिंस कुमार,मंडल संयोजक मनीष योगी,मंडल सहसंयोजक देव कुमार,मंडल मीडिया प्रभारी अनुज नागर, मंडल उपाध्यक्ष महेश नाथ,मंडल उपाध्यक्ष शिवा चौहान, राजकुमार खटीक आदि मौजूद रहे।