घोडी बछेडा को स्मार्ट विलेज के रूप में विकासित किए जाने की मंजूरी प्रदान कर दी गई हैः .सी.ई.ओ

 




गांव के मुक्तिधाम की मरम्मत कराई जा रही है, टीनशेड बदलवाए जा रहे हैं और गंदे नालों को दुरस्त करावाया जा रहा हैः देवेंद्र कुमार रावल एडवोकेट

 


मौहम्मद इल्यास-’’दनकौरी’’/ग्रेटर नोएडा

ग्रेटर नोएडा क्षेत्र के ग्राम घोडी बछेडा में विकास कार्यो के लिए ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण एक तरह से कंभकर्णी नींद से जाग उठा है।  ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण से अब मुक्तिधाम समेत बुनियादी सुविधाओं और विकास कार्यो की सुध लेनी शुरू कर दी है। यही नही अब ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने एक कदम और आगे बढते हुए ग्राम घोडी बछेडा को स्मॉर्ट विलेज के रूप में विकासित किए जाने की मंजूरी प्रदान कर दी हैं। ग्राम घोडी बछेडा यहां एक ऐतिहासिक और बडा गांव माना जाता है। ग्रांउड रिपोर्ट में यह घोडी बछेडा गांव खास कर साफ सफाई, जर्जर सडकें बुनियादी सुविधाओं तथा विकास कार्यो को लेकर मीडिया की सुर्खियां बना था। इससे ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण, क्षेत्रीय विधायक और साथ में ही गौतमबुद्धनगर सासंद तक ने गांव की दयनीय स्थिति को लेकर संज्ञान लिया था। साथ ही क्षेत्रीय विधायक मास्टर तेजपाल नागर और गौतमबुद्धनगर सांसद डा0 महेश शर्मा ने ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण से इस गांव को स्मार्ट विलेज के रूप में विकासित किए जाने की अपेक्षा की थी। ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के अपर मुख्य कार्यापालक अधिकारी दीपचंद्र ने बताया कि ग्राम घोडी बछेडा को स्मार्ट विलेज के रूप में विकासित किए जाने की मंजूरी प्रदान कर दी गई है, तथा स्वीकृति के क्रम में स्मार्ट विलेज कार्यो हेतु कंसलटैंट से उक्त विकास कार्य की डीपीआर तैयार करा कर अग्रेत्तर कार्यवाही की जाएगी। डिस्ट्रिक्ट बार एसोसिएशन कलक्ट्रेट सूरजपुर के पूर्व सचिव व गांव निवासी देवेंद्र कुमार रावल एडवोकेट ने विजन लाइव डिजिटल मीडिया को बताया कि ग्राम घोडी बछेडा क्षेत्र का एक बडा व ऐतिहासिक गांव माना जाता है, किंतु पिछले कुछ वर्षो से विकास के नाम पर गांव की अनदेखी की जा रही थीं। जनप्रतिनिधयों को यहां के विकास के बारे में सोचने तक की फुर्सत नही थी और ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के अधिकारी यहां दौरा तक नही करते थें। जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों की उदासनीता के चलते हुए गांव एक तरह से स्लम बस्ती बन कर रह गया था किंतु जैसे ही ग्राउंड रिपोर्ट मीडिया की सुर्खियां बनी तो ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण और साथ  ही जनप्रतिनिधिगण भी गहरी नींद से जाग उठे। उन्होंने बताया कि अब गांव के मुक्तिधाम की मरम्मत कराई जा रही है, टीनशेड बदलवाए जा रहे हैं और गंदे नालों को दुरस्त करावाया जा रहा हैं। साथ ही ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण की ओर से बताया जा रहा है कि अब ग्राम घोडी बछेडा को स्मार्ट विलेज के रूप में विकासित किए जाने की मंजूरी प्रदान कर दी गई है।

 

 

>