विजन लाइव/बुलंदशहर

श्री श्याम सखा युवा मंडल के तत्वधान में सोमवार से प्रारंभ हो रही श्रीमद्भागवत कथा से पूर्व बड़ी धूमधाम से कलश यात्रा निकाली गई। कलश यात्रा प्रातः कालेश्वर मंदिर से प्रारंभ होकर अनेक रास्तों से होती हुई श्री राज राजेश्वर मंदिर पर आकर संपन्न हुई। कलश यात्रा बैंड बाजों के साथ निकाली गई व मंडल के सदस्य और भक्तजन बैंड बाजों के आगे भजन कीर्तन नाचते गाते चल रहे थे। रास्ते में कई जगह श्रद्धालुओं ने कलश यात्रा में फूलों की वर्षा भी की। मंडल के सदस्य संजय गोयल ने बताया कि श्रीमद् भागवत कथा राज राजेश्वर मंदिर में विजय कृष्ण जी महाराज श्री धाम वृंदावन के मुखारविंद से सुनाई जाएगी। कथा 27 तारीख दिन सोमवार से प्रारंभ होकर 3 अक्टूबर दिन रविवार तक चलेगी और 4 अक्टूबर दिन सोमवार को हवन एवं भंडारा करके कथा का समापन होगा। आज की भागवत कथा में महाराज जी ने बताया कि ज्ञान.वैराग्य के बिना भक्ति अपूर्ण है किसी मनुष्य के अंदर अगर भक्ति आती है तो उस मनुष्य के अंदर स्वतः ज्ञान.वैराग्य जन्म ले लेते हैं। हिंदू धर्मग्रंथों के अनुसार मनुष्य पर तीन प्रकार के ऋण पितृ ऋण, देव ऋण तथा ऋषि ऋण प्रमुख माने गए हैं, इनमें पितृ ऋण सर्वोपरि है। पितृ पक्ष में श्रीमद्भागवत कथा सुनने से पितृ.दोष से मुक्ति मिलती है। कथा के दौरान धुंधकारी के प्रेतयोनि में जाने एवं गौकर्ण के प्रसंग आदि सुनाए। प्रथम दिवस कथा में मुख्य यजमान शशांक गांगुली एवं श्वेता गांगुली रहे। कलश यात्रा में  स्वाति गांगुली, लक्ष्मी राजपूत, सोनिया शर्मा, रिचा राणा शर्मा, डौली गोयल, कीर्ति गांगुली, अनीता गोयल, मोनिका शर्मा,अतुल कृष्णदास, दीपेन गांगुली, विकास अग्रवाल, संजय गोयल, अनिल गुप्ता, सुलभ बंसल, हर्ष मिश्रा, नितिन सोनी, आशू वर्मा, नितिन शर्मा और सूरज आदि ने उपस्थित होकर धर्मलाभ उठाया।