घटिया साम्रमी लगाए जाने की शिकायत पर ग्रेटर नोएडा प्रधिकरण के सीईओ नरेंद्र भूषण ने नाले की बनाई गई दीवार को दिया था, गिरवा

 





भारतीय किसान यूनियन ( बलराज ) के उत्तर प्रदेश अध्यक्ष चौधरी शौकत अली चेची ने फिर मोर्चा खोला

 




मौहम्मद इल्यास-’’दनकौरी’’/ग्रेटर नोएडा

ग्रेटर नोएडा क्षेत्र में चल रहे निमार्ण कार्यो में घटिया सामग्री लगाए जाने की खबर से क्षेत्रवासियों में खासा रोष व्याप्त है। कुछ दिन पहले एक संगठन ने घटिया सामम्री लगाए जाने की शिकायत ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण से की थी, उस समय तो अधिकारियों ने मौके पर पहुंच कर काम रूकवा दिया मगर फिर नाले के निमार्ण कार्य में ईंटों से लेकर रेत तक घटिया साम्रमी लगाए जाने की खबर मिल रही है। कासना नहर तिराहे से यमुना एक्सप्रेस-वे और  सेक्टर चाई फाई तथा एटीएस सोसायटी की ओर जाने वाले रोड के किनारे नाला है। इस रोड के किनारे नाले की दीवार को उंचा किए जाने के लिए टेंडर दिए गए हैं। लोगों का कहना है कि कई बार गाय और भैंस आदि पशु इन नालों में गिर कर घायल होते रहे हैं, इसी लिहाज से ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने कासना से लेकर चाई फाई सेक्टर तक नाले की दीवार को करीब 4 फीट उंचा किए जाने के लिए टेंडर दिए हैं। नाले की दीवार को उंचा बनाए जाने का निमार्ण कार्य पिछले कुछ दिनों से चल भी रहा है। लोगों का यहां तक कहना हैं कि नाले के इस निमार्ण कार्य में खूब धांधली की जा रही है। आंख बचते ही दोयम, सोयम और यहां तक पीली ईंटे तक इस निमार्ण कार्य में लगाई गई हैं। यही हाल सीमेंट, रोडी बदरपुर और बालू रेत का भी है। करप्शन को लेकर कार्य करने वाले एक संगठन ने भी नाले के निमार्ण कार्यो में घटिया साम्रमी लगाए जाने की शिकायत ग्रेटर नोएडा प्रधिकरण के सीईओ नरेंद्र भूषण से की थी, उस समय प्राधिकरण के अधिकारियों ने मौके पर पहुंच कर नाले की बनाई गई दीवार को घटिया सामग्री की बात पर गिरवा दिया था। भारतीय किसान यूनियन ( बलराज ) के उत्तर प्रदेश अध्यक्ष चौधरी शौकत अली चेची ने कहा है कि संबंधित ठेकेदार द्वारा नाले के निमार्ण कार्य में घटिया ईंटें और सामग्री लगाए जाने की मांग उठाई थी। उस समय विजन लाइव डिजिटल मीडिया ने इस खबर को प्रमुखता से प्रसारित किया था। विजन लाइव डिजिटल मीडिया की ’’कासना नाले के निमार्ण कार्य में घटिया सामग्री लगाए जाने की खबर से क्षेत्रवासियों का लामबंद होना शुरू’’ शीर्षक से प्रसारित हुई, उक्त खबर जब सुर्खियां बनी तो इसका असर इतना हुआ कि रातों रात मौके से दोयम, सोयम और पीली ईंटे उठवां दी गई और उनकी जगह बेहतर क्वालिटी की ईंटे लगाई जानी लगीं। इसके बाद नाले का यह निमार्ण कासना की ओर आगे बढा, जैसे ही नाले की दीवारें मीडिया विलेज सोसायटी के पीछे चैक्टर फाई-4 में और डा0 अंबेडकर अनुसूचित जाति जन जाति छात्रावास की आेंर निमार्ण शुरू किया गया है। यहां धडाधडा दोयम, सोयम और पीली ईंटों का प्रयोग किए जाने की खबर मिल रही है। अब भारतीय किसान यूनियन ( बलराज ) के उत्तर प्रदेश अध्यक्ष चौधरी शौकत अली चेची ने कहा है कि घटिया सामम्री लगाए जाने की खबर से उस समय तो ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के अधिकारियों ने मौके पर पहुंच कर काम रूकवा दिया, मगर फिर नाले के निमार्ण कार्य में ईंटों से लेकर रेत तक घटिया साम्रमी लगाए जाने की खबर मिल रही है। ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने शीघ्र इस मामले की जांच करा कर बेहतर सामग्री नही लगवाई और ठेकेंदार को दंडित नही किया तो प्राधिकरण के खिलाफ धरना प्रदर्शन किया जाएगा और साथ ही ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के संबंधित अधिकारियों और भ्रष्ट ठेकेदारों के खिलाफ शिकायत मुख्यमंत्री से भी की जाएगी।