विश्व हृदय दिवस पर गौतमबुद्धनगर में एक दिन में 10 हज़ार लोगों का किया गया शुगर टेस्ट, डायबिटज व हृदय रोग के प्रति किया गया जागरूक

 


परी चौक, वेनिस मॉल, अंसल प्लाजा,साईट - 5, औद्योगिक  क्षेत्र, जगत फार्म, सूरजपुर, कुलेसरा, अल्फा 2 मार्केट, अल्फा 1 कमर्शियल बेल्ट, विभिन्न सोसाइटी, सरकारी प्रतिष्ठान,   नोएडा में बॉटनिकल गार्डन, सेक्टर 37 नोएडा, जीआईपी मॉल आदि  पर  वालंटियर्स  ने लोगों की शुगर टेस्टिंग की

 


 



डायबिटीज एक बीमारी नहीं बल्कि बीमारी की जन्मदाता है। इसको दूर रखने के लिए अच्छे जीवन शैली अपनाने की जरूरत है- अनिल कुमार सिंह

 


विजन लाइव/ गौतमबुद्धनगर

: विश्व हृदय दिवस के उपलक्ष्य पर  रिसर्च सोसाइटी फॉर द स्टडी ऑफ डायबिटीज इन इंडिया  द्वारा आयोजित मेगा इवेंट  "वन नेशन, वन डे, वन मिलियन ब्लड शुगर टेस्टिंग" अभियान को सफल बनाने में जिला गौतमबुद्धनगर ने अपनी खास भूमिका निभाई।  जिले के लगभग 50 स्थानों पर 10 हज़ार लोगों के मधुमेह परिक्षण करने के लक्ष्य  को बड़ी आसानी से प्राप्त कर लिया गया।  इससे पहले  अल्फा 1 कमर्शियल बेल्ट स्थित सेण्टर फॉर डायबिटिक केयर पर मुख्य विकास अधिकारी अनिल कुमार सिंह ने एशिया बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकॉर्ड  में दर्ज होने जा रहे इस  इवेंट का उद्घाटन किया।  इस अवसर मुख्य अतिथि  मुख्य विकास अधिकारी अनिल कुमार सिंह ने  इस मेगा इवेंट  "वन नेशन, वन डे, वन मिलियन ब्लड शुगर टेस्टिंग" अभियान की सराहना की। उन्होंने कहा कि  डायबिटीज एक बीमारी नहीं बल्कि बीमारी की जन्मदाता है। इसको दूर रखने के लिए अच्छे जीवन शैली अपनाने की जरूरत है। नियमित अपने शुगर की जांच कराएं। चिकित्सक के सम्पर्क में रहें।  "वन नेशन, वन डे, वन मिलियन ब्लड शुगर टेस्टिंग" अभियान के नेशनल कोऑर्डिनेटर  डॉ. अमित गुप्ता ने बताया कि पूरे देश में 10 हज़ार साइट्स पर शुगर टेस्टिंग की गई  जिसका उद्देश्य  लोगों में मधुमेह और हृदय  रोग जैसे प्राणघातक रोग के प्रति जागरूकता पैदा करना था।  वहीं गौतमबुद्ध नगर में लगभग 50 साइट्स (  जिसमें प्रमुख रूप से परी चौक, वेनिस मॉल, अंसल प्लाजा,साईट - 5, औद्योगिक  क्षेत्र, जगत फार्म, सूरजपुर, कुलेसरा, अल्फा 2 मार्केट, अल्फा 1 कमर्शियल बेल्ट, विभिन्न सोसाइटी, सरकारी प्रतिष्ठान,   नोएडा में बॉटनिकल गार्डन, सेक्टर 37 नोएडा, जीआईपी मॉल आदि   ) पर  वालंटियर्स  ने लोगों की शुगर टेस्टिंग की।  इस दौरान जिन लोगों में शुगर की लेवल ज्यादा पाई गई उन्हें  चिकित्सक से परामर्श करने की सलाह दी गई।  साथ ही खानपान और लाइफस्टाइल के बारे में भी बताया गया। इस अभियान को सफल बनाने में  प्रकाश इंस्टीट्यूट ऑफ़ फार्मेसी, विज़न हेल्थ एन्ड एजुकेशन फॉउंडेशन संस्था का सहयोग रहा।  इस मौके पर डॉ. अमित गुप्ता, डॉ. सौरभ श्रीवास्तव, डॉ. विमल अग्रवाल, राजेश माथुर, अजय कुमार ,संजय श्रीवास्तव आदि मौजूद रहे।