स्वंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर श्रीमती गीता भाटी की कलम से विशेष

श्रीमती गीता भाटी

---------------------------हम सब अपना 75 वा स्वत्रंता दिवस मनाने जा रहे हैं। अमर शहीदों को आज हम सब नमन करते हैं, जिन्होंने अपना पूरा जीवन हमारे देश की आज़ादी के लिए कुर्बान कर दिया। कितनी माताओं ने अपनी कोख को सूना कर दिया? उन सभी के त्याग और बलिदान को हम नमन करते हैं जिनके कारण हम सब आज एक स्वतत्र जीवन जी रहे हैं। गर्व है हमें अपनी भारतीय संस्कृति पर, अपनी भारतीयता पर, अपनी राष्ट्र भाषा हिन्दी पर और हम सब एक जुट होकर अपने देश के लिए सच्चे नागरिक के रूप में हमेशा आगे बढ़ते रहेंगे। देश की समृद्धि के लिये प्रत्येक नागरिक को अपनी  कर्तव्यनिष्ठा के साथ एक सुदृढ़ समाज के निर्माण के लिए हमेशा प्रयत्नशील रहना है, क्योंकि किसी भी समृद्ध देश का निर्माण उस देश के नागरिकों की भावना पर निर्भर करता है। भारत देश एक धार्मिक, सांस्कतिक और परम्परागत देश है, विविधता में एकता के लिए हमारी एक पहचान है। हजारों कोसों की यात्रा एक कदम से प्रारम्भ होती है इसलिए हम प्रत्येक नागरिक देश को आगे बढ़ाने के लिये एक कदम के रूप में हैं। व्यक्तिगत रूप से हम सभी को अपने मौलिक कर्तव्यों के बारे में जानकारी रखते हुए उनका अनुसरण कर एक सच्चे नागरिक के रूप में आगे आना है और सरकार द्वारा बनाए गए नियमों का, कानूनों का पालन करना है। देश के कल्याण के लिये बनाई गयी सामाजिक व आर्थिक नीतियों का सम्मान कर एक शिक्षित, स्वस्थ व सुदृढ़ मजबूत देश के लिए हम सबको हमेशा एक राष्ट्र .हित की भावना रखते हुए आगे बढ़ते जाना है। हम सभी भारत देश के निवासी हैं, हमें  अपनी  युवा पीढ़ी और आने वाली पीढ़ी सभी को एक साथ एक देश भक्त की भावना रख कदम से कदम मिलाकर अपने देश के लिये हमेशा जागरूक होकर आगे बढ़ना है और देश के हित में उठाये गए सभी सराहनीय कदमों का साथ एकजुट होकर साथ देना है, नियमों का पालन कर अपनी सच्ची नागरिकता को हम सभी को निभाना है और हमेशा प्रयत्नशील हो आगे बढ़ते जाना है। गर्व है हमें उन भारतीयों पर जिन्होंने किसी न किसी क्षेत्र में अपने देश का नाम रोशन किया, सम्मान बढ़ाया हैऔर हाल ही में हुए टोक्यो में आयोजित होने वाले ओलिम्पिक खेलों में जिन भारतीय खिलाडियों ने उच्च स्तर पर प्रदर्शन कर अपने भारत देश का नाम रोशन किया, सम्मान दिलाया है। इस स्वतंत्रता दिवस पर हम सभी भारतीयों की तरफ से उन्हें हार्दिक शुभकामनाएं। इस तरह हम जो भी कार्य अपने देश को आगे बढ़ाने के लिए करते हैं, हमारा पूरा देश गौरान्वित होता है। हम सभी नागरिको को देश के अमर शहीदों के जीवन बलिदानों के रूप में दी गई, हमें इस आज़ादी की चादर को हमेशा सम्मान करना है, हमें देश के हित में निरन्तर प्रयासरत रहना है और एक साथ सभी नागरिकों को मिलकर देश को आगे बढ़ाना है और दिन . प्रतिदिन कदम से कदम मिलाते हुए एकजुट होकर एक सच्ची राष्ट्र. भक्त की भावना रखते हुए आगे बढ़ते जाना है।

लेखिका :-श्रीमती गीता भाटी प्रधानाध्यापिका बेसिक शिक्षा परिषद उत्तर प्रदेश, जिला-गौतमबुद्धनगर से, राज्य पुरस्कार प्राप्त हैं।