विजन लाइव/ दनकौर
 हिन्दू युवा वाहिनी दनकौर मंडल  के कार्यकर्ताओं ने स्वाधीनता संग्राम सेनानी मातृभूमि के लिये अपने प्राणों की आहुति देने वाले देश की स्वतंत्रता के लिये हँसते हँसते फाँसी के फंदे को चूमने वाले अमर शहीद शिवराम हरि राजगुरु की जयंती पर दीप जलाकर फूल माला से भावपूर्ण श्रद्धांजलि अर्पित की। मंडल अध्यक्ष  नवीन शर्मा ने बताया कि शहीद भगतसिंह का नाम कभी अकेले नही लिया जाता, उनके साथ राजगुरु ,सुखदेव का नाम बड़े सम्मान के साथ लिया जाता है। शिवराम हरि राजगुरु जो महाराष्ट्र के रहने वाले थे जिन्होंने भारत माता को गुलामी की जंजीरों में जकड़ने वाले अग्रेजो के एक पुलिस अधिकारी को मार गिराया था और भगतसिंह और सुखदेव के साथ ही उन्हें 23 मार्च 1931 को फाँसी दी गई थी, इनका जन्म पुणे के पास  खेड़ नामक गाँव (वर्तमान में राजगुरु नगर )में हुआ था बचपन से ही राजगुरु के अन्दर जंग- ए- आजादी में शामिल होने की ललक थी,  वे महाराष्ट्र के देशाथा ब्राह्मण परिवार से थे उनके परिवार का शान्त साधारण  जीवन था, लेकिन उनके जीवन मे अशांति तब आयी जब होश संभालते ही उन्होंने अग्रेजो के जुल्म को अपनी आँखों के सामने होते देखा भारत माता की जय की। इस मौके पर मंडल मंत्री प्रिंस कुमार, मंडल मंत्री महेश नाथ,मंडल कार्यकर्ता हर्ष नागर, मंडल कार्यकर्ता ऋतिक यादव, मंडल कार्यकर्ता गंगाराम शर्मा , मंडल कार्यकर्ता एडवोकेट राघव सिंघल और राहुल ,मा०शिवशंकर, शर्मा,मा०राजकुमार शर्मा ,मा०संजय आदि गणमान्यजन मौजूद रहे।