किसानों के प्रस्ताव को ठुकराया तो 100 से अधिक संगठनों द्वारा बनाया गया, राष्ट्रीय किसान मोर्चा केंद्र सरकार को घेरने का काम करेगाः बलराज भाटी 

 



विजन लाइव/ग्रेटर नोएडा

भारतीय किसान यूनियन ( बलराज ) के राष्ट्रीय अध्यक्ष बलराज भाटी के नेतृत्व में तीन कृषि बिल कानून के गतिरोध को खत्म करने के लिए प्रधानमंत्री के नाम जिलाधिकारी गौतमबुद्धनगर को एक ज्ञापन सौंपा गया। राष्ट्रीय अध्यक्ष बलराज भाटी का कहना है कि किसान तीनों कृषि बिल कानून के विरोध में 9 महीने से दिल्ली की सीमाओं पर व हर राज्यों में अपने अपने तरीकों से धरना प्रदर्शन व आन्दोलन कर रहे हैं, जिससे किसानों एवं देश की अर्थव्यवस्था पर बुरा असर पड़ रहा है। इन 8 महीने से सरकार ने किसानों से कोई सार्थक वार्ता नहीं की है। सरकार की हठधर्मिता से साफ़ जाहिर है कि सरकार आन्दोलन को खत्म करना ही नहीं चहाती है। सरकार और किसानों के बीच तीन कृषि कानून को लेकर चल रहे गतिरोध को खत्म करने के लिए 20 प्रान्तों से आए 100 से भी अधिक संगठनों द्वारा 4 अगस्त 2021 को रकाबगंज दिल्ली में बैठक की गई थी, जिसमें भारतीय किसान यूनियन( बलराज ) और राष्ट्रीय किसान मजदूर संगठन की अहम भूमिका रही और बैठक में सर्वसम्मति से राष्ट्रीय किसान मोर्चा का गठन किया गया था और इस गतिरोध को तोड़ने के लिए राष्ट्रीय किसान मोर्चा ने 5 अगस्त को इन कानूनों को संशोधित करने के लिए 4 प्रस्ताव प्रधानमंत्री को भेजे थे, जिससे किसानों और सरकार का वार्ता का रास्ता साफ हो जाएगा। एक तरफ सरकार कहती हैं कि हम किसानों से वार्ता करने को तैयार हैं और एक तरफ़ किसानों के प्रस्ताव पर विचार नहीं किया जा रहा है। सरकार फिर ये घोषणा कर रही है कि 2022 में किसानों की आय दुगनी कर दी जाएगी, यह तो सम्भव तभी होगा तब किसान की हर फसलों की एमएसपी खरीद पर गारंटी कानून बनाया जाए और कृषि बिल कानून में संशोधन किया जाए। झूठे वादे करने से आय दुगनी होने वाली नहीं है, यदि सरकार ने किसानों के प्रस्ताव को ठुकराया तो 100 से अधिक संगठनों द्वारा बनाया गया, राष्ट्रीय किसान मोर्चा शीघ्र रणनीति तैयार कर केंद्र में बैठी सरकार को घेरने का काम करेगा। इस मौके पर भारतीय किसान यूनियन ( बलराज )  के राष्ट्रीय अध्यक्ष बलराज भाटी, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बीर सिंह भाटी, राष्ट्रीय महासचिव ऊधम भाटी, राष्ट्रीय अध्यक्ष युवा मोर्चा एसबी सिंह, राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष रोहित भाटी, उत्तर प्रदेश अध्यक्ष चौधरी शौकत अली चेची, प्रदेश उपाध्यक्ष सुरेन्द्र खारी, प्रदेश महामंत्री रामरिक भाटी, जिला अध्यक्ष गौतमबुद्धनगर सिंह, जिला सचिव अनूप भाटी, जिला उपाध्यक्ष रामवीर भाटी, तहसील अध्यक्ष सोबिनदर भाटी, तहसील उपाध्यक्ष राजू बैंसला आदि पदाधिकारी और कार्यकर्तागण मौजूद रहे।