विजन लाइव/ दिल्ली 
रकाबगंज गुरुद्वारा दिल्ली में किसानों के 100 से ज्यादा राष्ट्रीय अध्यक्षों की मीटिंग हुई। जिसमें राष्ट्रीय संगठन का गठन किया गया ।सर्व सहमति से संयोजक सरदार वीएम सिंह को बनाया गया। सभी किसानों ने 7 प्रस्तावों पर सहमति जताई जो 5 अगस्त को माननीय प्रधानमंत्री को 7 सूत्रीय मांग पत्र सौंपा जाएगा। जिसमें सहमति यह भी की गई की पिछले 8 महीनों से जो किसान संगठन सभी के हक की लड़ाई सरकार से लड़ रहे हैं उनका तरीका अलग हो सकता है। राष्ट्रीय संगठन का तरीका अलग हो सकता है। लेकिन मंजिल सबकी एक है ।केंद्र सरकार से अपनी जायज मांग करना राष्ट्रीय अध्यक्ष बलराज भाटी ने अपने बयानों में कहा आपसी फूट के कारण हम रास्ते से भटक गए थे लेकिन किसानों की यह लड़ाई पूरे देश की लड़ाई है ।राष्ट्रीय संगठन के गठन का उद्देश्य सभी फसलों पर एमएसपी पर गारंटी कानून आंदोलन में शहीद हुए किसानों को मुआवजा आंदोलन के समय किसानों पर हुए बिना शर्त मुकदमे वापिस किए जाएं चौधरी शौकत अली चेची ने अपने बयानों को शायरी में पेश किया और कहा रास्ता कठिन है ।तो क्या हम संघर्ष करना छोड़ दें भूख प्यास हमें लगी है ।तो सरकार से डर कर क्या हम खाना पीना छोड़ दें अगले शब्द में एकता जागरूकता भाईचारा अमन चैन तरक्की का रास्ता और झूठ गुमराह नफरत से सब की बर्बादी का रास्ता चेची ने कहा 80 करोड़ किसान देश में सबसे ज्यादा पुण्य कमाता है। केंद्र सरकार अन्नदाताओं का अपमान करना बंद करें क्योंकि वोट की पावर संविधान ने हमें दी है ।