विजन लाइव/गौतमबुद्धनगर

 कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश माननीय न्यायमूर्ति इलाहाबाद द्वारा जनपद गौतमबुद्धनगर में वर्चुअल ट्रेफिक कोर्ट का अनावरण किया गया। दीवानी न्यायालय जनपद गौतमबुद्धनगर में वर्चुअल ट्रेफिक कोर्ट एंव ई-पे भुगतान का अनावरण उच्च न्यायालय इलाहाबाद में कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश माननीय न्यायमूर्ति एमएन भण्डारी द्वारा व उच्च न्यायालय इलाहाबाद के प्रशासनिक न्यायमूर्ति के अतिरिक्त अध्यक्ष कम्प्यूटराईजेशन कमेटी के माननीय न्यायमूर्ति एसपी केसरवानी की उपस्थिति में वर्चुअल मोड से किया गया। इस कार्यक्रम में मुख्य रूप से माननीय उच्च न्यायालय इलाहाबाद के न्यायाधीशगण की उपस्थिति के साथ-साथ अवनीश चन्द अवस्थी अपर मुख्य सचिव (गृह) उ0प्र0 शासन तथा आलोक सिंह पुलिस कमिश्नर (पुलिस कमिश्परेट गौतमबुद्धनगर) तथा गणेश शाह डीसीपी ट्रेफिक के साथ-साथ संपूर्ण प्रदेश के जनपद न्यायाधीशगण वर्चुअल मोड से उपस्थित रहे। इस कार्यक्रम का शुभारम्भ जिला जज गौतमबुद्धनगर अशोक कुमार सप्तम की ओर से किया गया। उन्होनें कोर्ट की उपयोगिता व सुचिता पर विस्तृत रूप में प्रकाश डाला। इस कोर्ट का उद्देश्य बताते हुए माननीय कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश माननीय न्यायमूर्ती एमएन भण्डारी द्वारा बताया कि इस पोर्टल के आने से लोगों का देश भर में कही से भी अपने चालानी मुकदमों का निस्तारण घर बैठे कर सकते है, यह भी बताया कि चालानी मुकदमों का निस्तारण हेतु अधिवक्ता अथवा न्यायालय के कर्मचारी से सपंर्क करना अनिवार्य नहीं है, बल्कि यह व्यवस्था जटिलताओं को दूर करते हुए यथा शीघ्र पीडित पक्षकार के स्वेच्छा पर पूर्णत निर्भर रहेगा। इस से वादकारियों के खर्च में बचत होगी और मामलों का निस्तारण यथा शीघ्र होगा। माननीय न्यायमूर्ति एसपी केसरवानी, माननीय उच्च न्यायालय इलाहाबाद द्वारा बताया गया कि वर्चुअल ट्रेफिक कोर्ट से संबंधित पोर्टल की कार्यवाही मुख्य रूप से हिन्दी भाषा के माध्यम से होनी चाहिए क्योकि अधीनस्थ न्यायालयों की अधिकांश कार्यवाही हिन्दी भाषा में ही संपादित होती है। उद्घाटन के दौरान संबंधित कोर्ट की पीठासीन अधिकारी सुश्री नितिका महाजन से अपेक्षा की गई कि वह वर्चुअल ट्रेफिक कोर्ट की अपेक्षाओं को पूर्ण रूप से पूरा करने का प्रत्येक स्तर पर प्रयास करेंगी।