स्वर्गीय जतन प्रधान के निवास पर पहुंचे, युवजन सभा के उत्तर प्रदेश अध्यक्ष अरविंद गिरी

 


मौहम्मद इल्यास-’’दनकौरी’’/ग्रेटर नोएडा

उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव अब बिल्कुल सिर पर हैं। इसके लिए सभी राजनीतिक दलों ने अपनी गोटिया बैठानी शुरू कर दी है। यदि बात सपा की करें तो जेवर विधानसभा क्षेत्र में टीम जतन प्रधान एक नया गुल खिला सकती है। घरबरा गांव निवासी युवा समाजसेवी चौ0 जतन प्रधान पिछले कई वर्षो से किसानों की समस्याओं के लिए संघर्ष किए जाने के साथ साथ सपा का झंडा थामे हुए थे। ऐसे समय जब कई बार गौतमबुद्धनगर के सपाई सुस्त दिखाई दिए तो मेरठ से क्षेंत्र से आकर अतुल प्रधान ने यहां पर प्राण फूंकने का काम किया था। चौ0 जतन प्रधान की सपा में सक्रियता का यह परिणाम रहा था कि कई मुद्दों पर यहां सपाई जनता के बीच खासे सक्रिय दिखाई दिए। कुछ समय से माना यह भी जा रहा है कि चौ0 जतन प्रधान को सपा जेवर विधानसभा से प्रत्याशी बनाएगी। किंतु कोरोनकाल में चौ0 जतन प्रधान की असमय मौत ने सबकों का सकते में डाल दिया। सूत्रों की मानें तो टीम चौ0 जतन प्रधान ने अब भी हार नही मानी है और उनके भाई को राजनीति में आगे किया जा रहा है। यदि सपा की ओर से हरी झंडी मिली तो इस बार के चुनाव में टीम जतन प्रधान जेवर विधानसभा में एक नया गुंल खिला सकती हैं। वैसे जेवर विधानसभा क्षेत्र में इस बार टिकट के दावेदारों में कई नए युवा चेहरे भी हैं। इस कडी में समाजवादी पार्टी युवजन सभा के प्रदेश अध्यक्ष अरविंद अरविंद गिरी जेवर विधानसभा के मजबूत क्रांतिकारी नेता रहे स्वर्गीय जतन प्रधान के ग्रेटर नोएडा चाई 4 स्थित आवास पहुंचे। इस मौके पर उन्होंने कहा कि स्वर्गीय जतन प्रधान हमारे बहुत अच्छे मित्र थे, हमेशा पार्टी की नीतियों को उन्होंने आगे बढ़ाया, उनके सरल स्वभाव मिलनसार व्यक्तित्व के लोग कायल थे उनके स्थान को पार्टी में भर पाना मुश्किल होगा। आज उनके छोटे भाई डा0 विकास प्रधान से मिलकर अच्छा लगा। उन्होंने जतन प्रधान की विचारधारा व समाजवादी पार्टी की नितियो को आगे बढ़ाने के लिए अग्रसर हैं। ऐसे ऊर्जावान नौजवान के साथ समाजवादी पार्टी हर परिस्थिति में साथ है। विकास प्रधान के नेतृत्व में सैकड़ों की संख्या में समाजवादी साथियों ने पगड़ी पहनाकर और गुलदस्ता भेंट कर उत्तर प्रदेश अध्यक्ष अरविंद गिरी का जोरदार स्वागत किया। इस मौके पर विकास प्रधान, लखन भाटी, सुखवीर प्रधान, लोकेश भाटी, मोनू खारी, रविंद्र प्रधान, निक्की भाटी, ओमवीर बीडीसी, धर्मी भाटी, खेमी फागना, जगत भाटी, राजेश भाटी, अभिषेक भाटी, अक्षय भाटी, कृष्ण नागर, प्रदीप भाटी, बिजेंद्र भाटी आदि पदाधिकारी और कार्यकर्तागण मौजूद रहे।