समाजवादी पार्टी मजदूर सभा के प्रदेश सचिव चौधरी हसरुद्दीन ने योगी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोला

 


यूपी में गुडांराज पूरी तरह से कायम हो चुका है,प्रेग्नेंट महिला को उत्तर प्रदेश के मैनपुरी में गोली मार दी जाती हैः चौधरी हसरुद्दीन

 


विजन लाइव/गौतमबुद्धनगर

गौतमबुद्धनगर में आगामी 30 अगस्त-2021 तक त्यौहारों और कोविड-19 महामारी को लेकर धारा -144 लागू कर दी गई है। इससे राजनीतिक दलों को जुलूस, धरना प्रदर्शन आदि कार्यक्रम अनुमति लेकर करने पड रहे हैं। इसी क्रम में गौतमबुद्धनगर पुलिस ने सपा को नोटिस भेजा हैं। नोटिस में पुलिस ने कहा है कि दिनांक 15-07-2021 को समाजवादी द्वारा आयोजित धरना प्रदर्शन में शामिल होने की जानकारी श्री हसरूद्दीन पुत्र नजीर निवासी ग्राम बैगमपुर थाना सूरजपुर गौतमबुद्धनगर की प्राप्त हुई है। कोविड19 के कारण तथा धारा 144 के कारण किसी भी आंदोलन की अनुमति नही है चूंकि धरना प्रदर्शन के संबंध में किसी भी सक्षम अधिकारी से पूर्व अनुमति नही ली गई है। अतः प्रस्तावित धरने के दौरान कानून एवं व्यवस्था की दृष्टि से कोई भी अप्रिय घटना घटित होती है तो उसकी पूर्ण जिम्मेदारी आपकी ही मानी जाएगी तथा आपके विरूद्ध वैधानिक कार्यवाही अमल में लाई जाएगी। पुलिस द्वारा सामने आ जाने से सपाईयों में बेहद गुस्सा हैं। इस मौके पर समाजवादी पार्टी मजदूर सभा के प्रदेश सचिव चौधरी हसरुद्दीन ने एक बयान में कहा है कि सपा की बढती हुई लोकप्रियता से योगी सरकार बौखाला गई है। सरकार के इशारे पर ही पुलिस ने धारा-144 लागू की है और धरना प्रदर्शन में शामिल न होने देने के लिए सपाईयों को नोटिस भेज कर धमकाया जा रहा हैं। उन्होने कहा कि सपा का आगामी 15 जुलाई का प्रस्तावित धरना प्रदर्शन योगी सरकार के लिए आखिरी कील साबित होगा। यूपी में गुडांराज पूरी तरह से कायम हो चुका है,प्रेग्नेंट महिला को उत्तर प्रदेश के मैनपुरी में गोली मार दी जाती है। इससे साबित हो रहा है कि भाजपा सरकार के चलते हुए यूपी में न तो महिलाओं का सम्मान है और न ही सरकार सम्मान करना चाहती है। उत्तर प्रदेश के अंदर ऐसी घटनाएं होना आम बात हो गई है। सीएम योगी पूरी तरह से विफल साबित हो चुके हैं। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ही है, कह सकते हैं जो इस गुंडागर्दी से निजात दिला सकते हैं।