1 करोड़ वैक्सिनेशन व यूनिवर्सल मुफ्त टीकाकरण की मांग को लेकर  नोएडा महानगर कांग्रेस ने राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सिटी मजिस्ट्रेट को सौंपा

 


विजन लाइव/गौतमबुद्धनगर

उत्तर प्रदेश कांग्रेस की विधान मंडल नेता आराधना मिश्रा मोना ने केंद्र सरकार की वैक्सीन नीति को लेकर आज नोएडा प्रेस क्लब सैक्टर 29 में एक प्रेस वार्ता की। इस प्रेस वार्ता में उन्होंने कहा कि कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी ने राष्ट्रपति को पत्र लिखकर मांग की है कि प्रतिदिन एक करोड़ वैक्सीनेशन सुनिश्चित करने व भारत के हर नागरिक को यूर्निवर्सल मुफ्त वैक्सीनेशन दिलवाई जाएं। लेकिन मोदी सरकार हर तरफ फेल हो रही है। पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी हर दिन सरकार को आगाह कर रहे हैं लेकिन मोदी व योगी सरकार उनके सुझावों को सुनने को तैयार नहीं है। उन्होंने कहा कि कल अमेरिका की उप राष्ट्रपति और भारतीय मूल की कमला हैरिस से भारत के प्रधानमंत्री ने फोन पर वार्ता की। वार्ता के बाद  इसे कूटनीतिक विजय बताते हुए उन्होंने कहा कि अमेरिका ने भारत को कोविड 19 की वैक्सीन देने की बात कही है। अमेरिका दुनिया के लगभग 19 देशों को कोविड टीके दे रहा है जिनमे भारत, कनाडा, मैक्सिको ओर कोरिया को लगभग 70 लाख टीके की खुराक दे रहा है, इस तरह भारत को बहुत ही कम टीके मिल रहे हैं। उन्होंने सवाल करते हुए कहा कि देश के बच्चों को लगने वाली वैक्सीन दुनिया के 72 देशों क्यों बांटी गई और अब उसी वैक्सीन को लाने के लिए तमाम राष्ट्रों के सामने हाथ जोड़कर अनुनय विनय कर रहे हैं, और वह भी तब जब भारत के विदेश मंत्री एक सप्ताह तक अमेरिका में कैम्प कर रहे थे। क्या तब भी अमेरिका की राष्ट्रपति भारत के प्रधानमंत्री से बात करने को तैयार नहीं हुए? उन्हें अमेरिका की उप राष्ट्रपति से बात करनी पड़ी। शायद कहीं न कहीं कूटनीतिक तनाव अवस्य है कि प्रधानमंत्री ने जो अमेरिका में जाकर तत्कालीन अमेरिकी राष्ट्रपति डोनॉल्ड ट्रंप का चुनाव प्रचार किया था और अहमदाबाद में उनका प्रचार किया था तथा एक साधारण कार्यकर्ता की तरह नारा लगवाया था कि अबकी बार ट्रंप सरकार। मोना मिश्रा ने कहा कि ये भारत की स्थापित विदेश नीति से पलायन था, देश के प्रधानमंत्री रहे पंडित नेहरू, इंदिरा गांधी, राजीव गांधी, अटल बिहारी बाजपेयी व मनमोहन सिंह  ने भारत की विदेश नीति का पूरी तरह पालन किया था कि भारत किसी भी देश की अंतरराष्ट्रीय मामलों में या चुनाव में दखल नहीं देगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी इससे बचना चाहिए था, किंतु ऐसा करके उन्होंने भारत का अहित किया है और आज उसकी कीमत देश को चुकानी पड़ रही है। प्रेस वार्ता के बाद प्रति दिन एक करोड़ वैक्सिनेशन व यूनिवर्सल मुफ्त टीकाकरण की मांग को लेकर महानगर अध्यक्ष शाहबुद्दीन के नेतृत्व में महानगर कांग्रेस पदाधिकारियों ने राष्ट्रपति के नाम एक ज्ञापन सिटी मजिस्ट्रेट को भी सौंपा। इस प्रेस वार्ता व ज्ञापन में शामिल पदाधिकारियों में शहर अध्यक्ष शाहबुद्दीन, प्रदेश महासचिव विदित चौधरी, जिला प्रभारी सुनील बिश्नोई, विनोद पांडेय, मुकेश यादव, दिनेश अवाना, राजकुमार भारती, पवन शर्मा, पुरुषोत्तम नागर, लियाकत चौधरी, रामकुमार तंवर, राजकुमार मोनू, सतेंद्र शर्मा, प्रमोद शर्मा, दयाशंकर पांडेय, जितेंद्र अम्बावत, यतेंद्र शर्मा, उदयवीर यादव, विक्रम चौधरी, रिजवान चौधरी, जितेंद्र शर्मा, जावेद खान, रणबीर भाटी, अशरफ, सलौनी सोलंकी सहित कई कार्यकर्ता मौजूद रहे।