गौतमबुद्धनगर सपा अधिवक्ता सभा के पूर्व जिला महासचिव संजय खान एडवोकेट ने स्कूलों की मनमानी पर लगाम लगाने की मुख्यमंत्री से की मांग

 


मौहम्मद इल्यास/गौतमबुद्धनगर


कोरोनाकाल में ऑनलाईन क्लास के नाम पर स्कूलों की मनमानी के खिलाफ सपा अधिवक्ता सभा के पूर्व जिला महासचिव ने ऐतराज जताया है। इस मुद्दे पर गौतमबुद्धनगर सपा अधिवक्ता सभा के पूर्व जिला महासचिव संजय खान एडवोकेट ने स्कूलों की मनमानी पर लगाम लगाने की मांग मुख्यमंत्री से की है। पूर्व जिला महासचिव संजय खान एडवोकेट ने पत्र में मुख्यमंत्री को अवगत कराया है कि ऑनलाइन क्लासों के नाम पर स्कूल प्रबंधक शासन के आदेशों की जमकर धज्जिया उडाने मे ंलगे हुए हैं। पत्र में साफ कहा गया है कि मुख्यमंत्री जी आपके आदेशो का उल्लंघन हो रहा है आपके मना करने के बावजूद भी स्कूलों में ऑनलाइन क्लास चलाई जा रही हैं और इस महामारी के समय सभी खाने के लिए तरस रहे हैं और स्कूलों में ऑनलाइन क्लास चल रही है। इस कोरोनाकाल में जब कि खाने तक के लिए लाले पडे हुए हैं और ऐसे में जिनके दो या तीन बच्चे हैं वो क्या सभी को मोबाइल दिलाएगा? अगर उनको मोबाइल नही दिलाता है तो वो क्लास नही ले पायेगा? इस महामारी में खाने के लिए है नही तो वो बच्चों को फोन कहां से दिलाएगा और फिर उसको सभी के नेट रिचार्ज कराना है आखिर ये सब खर्च कहां से आएगा उपर से स्कूल अभिभावकों पर फीस वसूली के लिए तरह तरह के दवाब बनाते हैं कई स्कूलों की ओर से बच्चों का नाम तक काटने तक की धमकियां दी हैं। पत्र में पूर्व जिला महासचिव ने कहा कि कोरोनाकाल में व्यक्ति जैसे तैसे पेट भरने की सोचे या फिर इन स्कूलों की मनमानी झेले। कोरोनाकाल यानी लॉकडाउन में शासन की ओर से सभी स्कूलों की क्लास बन्द कराने के आदेश दिए थे मगर किसी ने भी इन आदेशो का पालन नहीं किया है और सभी स्कूलों की क्लास ऑनलाइन चल रही है। ंइन सभी स्कूलों के खिलाफ कड़ी कानूनी कार्यवाही होनी चाहिए। जिससे गरीब व्यक्ति पर डबल मार न पड सके। पूर्व जिला महासचिव ने इस पत्र की प्रतियां बेसिक बेसिक शिक्षा मंत्री उत्तर प्रदेश, जिलाधिकारी गौतमबुद्धनगर और बेसिक शिक्षा अधिकारी गौतमबुद्धनगर के नाम भी प्रेषित की हैं।