गौतमबुद्धनगर में भी डीएम ने लगाया 17 अप्रैल-2021 तक नाइट कर्फ्यू

 




मौहम्मद इल्यास/गौतमबुद्धनगर

कोरोना की बढती भयावहता को देखते हुए अब फिर कर्फ्यू के दिन लौट आएं हैं। एक बार फिर तेजी से पैर पसार रहे कोरोना के लगातार बढ़ रहे मामलों के मद्देनजर गौतमबुद्धनगर में नाइट कर्फ्यू लगा दिया गया है। नाइट कर्फ्यू का समय रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक रहेगा। हालांकि, इस दौरान आवश्यक वस्तुओं और सेवाओं से जुड़े लोगों को छूट रहेगी। इससे पहले पड़ोसी शहर दिल्ली और गाजियाबाद में भी नाइट कर्फ्यू लगाया जा चुका है। गौतमबुद्धनगर के जिलाधिकारी सुहास एल.वाई द्वारा  आज स्वास्थ्य विभाग, पुलिस तथा अन्य विभागों के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की गई और इस संबंध में निर्णय लिया गया। नाइट कर्फ्यू के साथ ही सभी सरकारी, निजी शिक्षण संस्थान, मेडिकल, पैरा मेडिकल और नर्सिंग को छोड़कर और कोचिंग सेंटर्स में 17 अप्रैल 2021 तक ऑफलाइन क्लासों पर रोक रहेगी। हालांकि प्रैक्टिकल सहित सभी परीक्षाएं अपने शेड्यूल के अनुसार आयोजित की जाएंगी और इस आदेश से छूट दी जाएगी। इस दौरान पुलिस और सभी लोगों को अपने वर्क प्लेस और सार्वजनिक स्थानों पर मॉस्क और अन्य कोविड प्रोटोकॉल का गंभीरता से पालन करना होगा। मुख्यमंत्री द्वारा द्वारा नाइट कर्फ्यू का फैसला जिलाधिकारियों को लेने के निर्देश दिए गए थे। जिलाधिकारी सुहास एल.वाई. ने बताया कि कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए जिले में कुछ सख्ती बढ़ाई जाएगी। उन्होंने सभी से कोविड.19 प्रोटोकोल का पालन करने की अपील की है। जिले में अब तक कुल 26,697 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं, जिनमें से 25,952 मरीज कोरोना मुक्त होकर अपने घर लौट गए हैं। गौतमबुद्धनगर में चार महीने के बाद बुधवार को एक दिन में सबसे अधिक रिकॉर्ड 125 मरीजों की पुष्टि की गई। इससे पहले छह दिसंबर को 138 कोरोना संक्रमित मरीज मिले थे। मार्च के बाद से कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में लगातार वृद्धि हुई है। आने वाले दिनों में कोरोना संक्रमण का और भी फैलाव होने की आशंका जताई जा रही है। स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट के अनुसार बुधवार को कोविड अस्पताल और होम आइसोलेशन से 49 मरीज स्वस्थ हुए। सक्रिय मरीजों की संख्या बढ़कर 652 हो गई है। कुल संक्रमित मरीजों की संख्या 26,697 तक पहुंच गई है। कोरोना संक्रमण के बढ़ने का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि 15 फरवरी को जिले में सक्रिय मरीजों की संख्या 42 थीए जो अब 15 गुना बढ़ गई है। कोरोना संक्रमण को बढ़ता देख स्वास्थ्य विभाग ने सरकारी के साथ ही निजी अस्पतालों में भी इलाज की सुविधा शुरू कर दी है। अगले सप्ताह से छह और नए अस्पतालों में मरीज इलाज करा सकेंगे। वर्तमान में दो सरकारी और दो निजी अस्पतालों में मरीजों का इलाज चल रहा है। स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट के अनुसार अब तक 93 मरीजों की इलाज के दौरान मौत हो चुकी है। स्वस्थ होने वाले कुल मरीजों की संख्या 25952 हो गई है।