दनकौर क्षेत्र में जिस्मफरोशी के धंधे का पर्दाफाश कर 12 महिलाएं और 11 युवक दबोचे

 


पुलिस कमिश्नर ने 5 पुलिसकर्मियों को तत्काल प्रभाव से लाइन हाजिर किया, चौकी इंचार्ज समेत कई पुलिसकर्मियों पर भी जांच की तलवार लटकी 

 




मौहम्मद इल्यास/गौतमबुद्धनगर


पुलिस कमिश्नरेट गौतमबुद्धनगर के थाना कोतवाली क्षेत्र में जिस्मफरोशी का धंधा चल रहा था। बताया गया है कि यह जिस्मफरोशी का धंधा कई स्थानीय पुलिसकमिर्यों की शह पर चल रहा था। इस बात की भनक जैसे ही आला पुलिस अधिकारियों को चली तो छापे की कार्यवाही शुरू कर दी गई। डीसीपी ग्रेटर नोएडा ने मौके पर पहुंच कर होटल से 12 महिलाओं और 11 युवकों को रंगे हाथों दबोच लिया। साथ ही उक्त होटल से पुलिस ने कई तरह की आपत्तिजनक वस्तुएं भी बरामद की हैं। इस धंधे में संलिप्तता को देखते हुए पुलिस कमिश्नर ने 5 पुलिसकर्मियों को तत्काल प्रभाव से लाइन हाजिर कर दिया है। उधर चौकी इंचार्ज समेत कई पुलिसकर्मियों पर भी जांच की तलवार लटक गई हैं। दनकौर कोतवाली क्षेत्र के मंडी श्यामनगर पुलिस चौकी इलाकें में चीती गांव के पास न्यू क्रॉउन प्लाजा होटल है। पुलिस के आला अधिकारियो ंको पता चला कि न्यू क्रॉउन प्लाजा होटल में जिस्मफरोशी का धंधा बेरोकटोक चल रहा है, साथ ही कुछ पुलिसकर्मियों का भी इस धंघे के सरगनाओं को खुला संरक्षण प्राप्त है। तत्काल डीसीपी राजेश कुमार सिंह ने पुलिस कमिश्नर आलोक सिंह के निर्देश पर एसीपी बृजनंदन राय की अगुवाई में एक टीम का गठन किया और छापेमारी शुरू कर दी। पुलिस टीम ने न्यू क्रॉउन प्लाजा होटल में दबिश देकर बड़े सैक्स रैकेट का भंडाफोड़ करते हुए मौके से 12 महिलाएं और 11 युवकों को दबोच लिया। होटल का मैनेजर भी इस अवैध कारोबार में लिप्त पाया गया है। पूरे प्रकरण में स्थानीय पुलिस की भूमिका भी सामने आ रही है। डीसीपी की रिपोर्ट के आधार पर पुलिस कमिश्नर ने कांस्टेबल और एक हेड कांस्टेबल को लाइन हाजिर कर दिया है। वहीं, चौकी इंजार्च की भूमिका को संदिग्ध मानते हुए उसके खिलाफ जांच शुरू कर दी गई है। डीसीपी राजेश कुमार सिंह ने बताया कि मौके से अवैध कारोबार में लिप्त 12 महिलाएं और 11 युवकों को गिरफ्तार किया गया हैं। होटल मैनेजर इस धंधे का मास्टर माइंड बताया जा रहा है। पुलिस पूरे मामले की जांच में जुटी है। उन्होंने बताया कि होटल न्यू क्रॉउन प्लाजा में ठहरने और खाने-पीने की सभी सुविधाएं मौजूद नहीं है। अभी इसका निर्माण कार्य चल रहा है। होटल जैसी कोई गतिविधि नहीं होने के बाद भी जिस्मफरोशी का धंधा चलाया जा रहा था। डीसीपी का कहना है कि तत्कालीन चौकी इंचार्ज के खिलाफ रिपोर्ट पुलिस कमिश्नर को भेजी गई है।