जेवर एयरपोर्ट के विस्थापन संबंधी समस्याओं के निराकरण के लिए जेवर विधायक धीरेंद्र सिंह व जिलाधिकारी ग्राम नगला गनेशी पहुंचे

 


विजन लाइव/गौतमबुद्धनगर

जेवर एयरपोर्ट के विस्थापन संबंधी समस्याओं के निराकरण के लिए जेवर विधायक धीरेंद्र सिंह व जिलाधिकारी ने ग्राम नगला गनेशी पहुंचकर, किसानों से वार्ता कर,72 घंटे में उनके समाधान किए जाने हेतु संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया। जेवर विधायक धीरेंद्र सिंह व जिलाधिकारी सुहास एल.वाई. जेवर में बनने वाले नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के प्रथम चरण में अधिग्रहित ग्राम नगला गनेशी में प्रभावित किसानों के मध्य पहुंचे और किसानों से संवाद कर, उनकी समस्याओं को सुनते हुए समस्याओं का 72 घंटे के अंदर समाधान किए जाने का आश्वासन दिया। किसान संवाद में ग्राम नगला गनेशी के किसान सरदार सिंह, रोहताश सिंह, कृष्णपाल सिंह व हंसराज सिंह आदि किसानों ने पुनर्वास एंव पुर्नस्थापना को लेकर उत्पन्न समस्याओं को जिलाधिकारी के समक्ष प्रस्तुत करते हुए जल्द समाधान व विस्थापित क्षेत्र में सुरक्षा आदि का भी मुद्दा उठाया। इस मौके पर जेवर विधायक धीरेन्द्र सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ क्षेत्र की समस्याओं को लेकर बेहद संजीदा हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जिला प्रशासन और यमुना एक्सप्रेस.वे विकास प्राधिकरण को स्पष्ट आदेश दिया है कि जेवर में बनने वाले अंतराष्ट्रीय एयरपोर्ट में अपनी जमीन देने वाले किसानों को किसी भी तरह का कष्ट नहीं होना चाहिए। अगर किसी भी कर्मचारी या अधिकारी ने किसानों का उत्पीड़न और शोषण करने का प्रयास किया तो उसके खिलाफ कठोर कार्यवाही की जाएगी। जिलाधिकारी ने उपस्थित किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि जेवर में बनने वाले अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट से प्रभावित किसानों के परिवारों को यमुना एक्सप्रेस वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण स्मार्ट कार्ड बनाकर देगा तथा प्राधिकरण टाउनशिप में ही मंदिर का निर्माण भी कराया जाएगा। किसानों की संपत्ति का मूल्यांकन आर एंड आर स्कीम के तहत किया जाएगा। भविष्य में किसानों को किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं होगी। नगला गनेशी के किसान अपनी कुछ समस्याओं के समाधान को लेकर चिंतित थे, उसी को लेकर जेवर विधायक धीरेंद्र सिंह व जिलाधिकारी ने किसानों को पूरी तरह से आश्वस्त किया। इस मौके पर यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण के विशेष कार्याधिकारी शैलेंद्र भाटिया, अपर जिलाधिकारी भूमि एंव अध्यप्ति बलराम सिंह, उप जिलाधिकारी जेवर रजनीकांत व उप जिलाधिकारी श्रीमती गुंजा सिंह आदि मौजूद रहे।