डी.एम.आई.सी. परियोजना से प्रभावित किसानों का पल्ला गांव में संपन्न हुई पंचायत में ऐलान

 




विजन लाइव/गौतमबुद्धनगर

किसान अधिकार. युवा रोजगार आंदोलन के आह्वान पर नए भूमि अधिग्रहण कानून के सभी लाभ दिए जाने की मांग को लेकर संघर्षरत पल्ला, पाली, चिठेहरा, कठेहरा और बोड़की आदि गांवों के किसानों द्वारा ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के ओ.एस. डी. सचिन कुमार और डी.एम.आई.सी. के कार्यालय में तैनात अधिकारी को और साथ ही गांवों में सर्वे करने गए अधिकारियों को ज्ञापन सौंपे। किसान प्रतिनिधि मंडल में गए किसान नेता सुनील फौजी एडवोकेट, मनीष भाटी बी.डी. सी., इंदर प्रधान, राजेश भाटी, राजवीर मास्टर जी एवं कृष्ण पाल तथा यश भाटी आदि ने  डी.एम.आई.सी. परियोजना हेतु सीधे रजिस्ट्री अथवा अधिग्रहण प्रक्रिया द्वारा लिए जा रहे प्रभावित सभी किसानों के खेतों में लगे पेड़ों, नलकूप व बोरिंग, मकान आदि परिसंपत्तियों का सर्वे कर नए कानून के तहत मूल्य तय किए जाने की बात कही। जिस पर अधिकारियों ने सभी का सर्वे कराने का भरोसा दिया। किसान प्रतिनिधिमंडल ने प्राधिकरण पर 23 दिन चले धरने के बाद 23 फरवरी को लखनऊ में होने वाली शासन स्तर की वार्ता के संबंध में भी चर्चा की और प्रशासन स्तर पर तय हुए मुद्दों की लिखित कॉपी मांगी जिस पर ए.सीई.ओ ग्रेटर नोएडा ने कल तक सभी कागज उपलब्ध कराने का भरोसा दिया। उधर डी.एम.आई.सी. परियोजना से प्रभावित किसानों द्वारा पल्ला गांव में पंचायत की गई। किसानों ने चेतावनी दी है कि यदि शासन स्तर की वार्ता में भी उनकी मांगों को पूरा नहीं किया गया तो आर. पार का आंदोलन किया जाएगा।