उत्तर प्रदेश के प्राथमिक शिक्षक संघ ने 20 सूत्रीय मांगों को लेकर ज्ञापन एडीएम को दिया



विजन लाइव/ ग्रेटर नोएडा
 जिला मुख्यालय सूरजपुर पर उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष विनोद नागर की अध्यक्षता में शिक्षकों की गोपनीय आख्या से मूल्यांकन करने संबंधी निर्गत आदेश को  लागू करने के विरोध में सैकड़ों शिक्षकों ने मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश सरकार व  बेसिक शिक्षा मंत्री उत्तर प्रदेश सरकार को संबोधित 20 सूत्रीय मांगों का ज्ञापन ए.डी.एम. वित्त एवं राजस्व  के माध्यम से दिया गया। इस मौके पर प्रांतीय ऑडिटर नरेश कौशिक ने कहा कि प्रांतीय कार्यसमिति द्वारा लिए गए निर्णय के क्रम में  उत्तर प्रदेश के सभी जिलों पर प्राथमिक शिक्षक संघ के पदाधिकारियों द्वारा ज्ञापन दिया गया है। सरकार द्वारा शिक्षकों पर नए-नए प्रयोग किए जा रहे हैं जो  शिक्षा एवं शिक्षक हित में सही नहीं है ।शिक्षकों की प्रमुख मांगों में 17140 /-18150/-, E. L,H.R.A. और जनपद में समायोजन कर शिक्षकों को एक शुद्ध वातावरण तैयार कर शिक्षण कार्य कराए जाएं जिससे प्रदेश में बच्चों को एक रचनात्मक  परिवेश में पढ़ाई करने का अवसर प्राप्त हो। इस मौके पर
संजीव शर्मा वरिष्ठ उपाध्यक्ष और घनानंद शर्मा,पुरुषोत्तम शर्मा, रतिराम शर्मा,  सतपाल भाटी,राजीव शर्मा, गंगाराम शर्मा, सविता नागर,पार्वती रानी, अलका, नीरज चौबे, रेनू बाला, बृजेश कुमार, उपासना वर्मा, विजय शर्मा, दोरेन्दर राणा,संजीव शर्मा, नरेंद्र कुमार, परवेज आलम,सतेन्द्र कुमार,महेश  वशिष्ठ, मुकेश कुमार ,महेश कुमार, मृत्युंजय कुमार,लताआदि शिक्षक शिक्षिकाएं  सम्मिलित रहे।