दिल्ली.मुंबई औद्योगिक कॉरिडोर एवं ग्रेटर नोएडा के सुनियोजित विकास हेतु प्रभावित किसानों को नही मिल पा रहा है, नए भूमि अधिग्रहण कानून-.2013 का लाभः सुनील फौजी

विजन लाइव/गौतमबुद्धनगर

दिल्ली.मुंबई औद्योगिक कॉरिडोर एवं ग्रेटर नोएडा के सुनियोजित विकास के हेतु और अन्य परियोजनाओं के लिए 1 जनवरी 2014 के बाद सीधे बैनमों अथवा अधिग्रहण प्रक्रिया द्वारा जमीनें लिए जाने से प्रभावित किसानों को नए भूमि अधिग्रहण कानून-.2013 के अनुसार बाजार दर का 4 गुना मुआवजा, 20 प्रतिशत प्लॉट एवं प्रत्येक बालिग बच्चे को रोजगार तथा गांवों का विकास किए जाने की मांग को लेकर ग्रेटर नोएडा के चिटहेरा गांव में किसान पंचायत का आयोजन किया गया। साथ ही प्रभावित गांवों चिटहेरा, कठहेरा, पल्ला और. पाली एवं बोडकी आदि दर्जन भर गांवो में होने वाले डोर टू डोर जन.जागरण अभियान की शुरुआत की गई। आंदोलन के सदस्य किसान नेता सुनील फ़ौजी एडवोकेट ने बताया कि 15 जनवरी को ग्रेटर नोएडा विकास प्राधिकरण में जिला प्रशासन और डी.एम.आई.सी. के अधिकारियों के साथ होने वाली वार्ता में मजबूती से किसान अपना पक्ष रखेंगे। किसानों ने चेतावनी दी है कि यदि उनकी मांगों को पूरा नहीं किया गया तो व्यापक आंदोलन शुरू किया जाएगा। इस मौके पर सुनील फौजी एडवोकेट, मनीष भाटी बी.डी.सी., इन्द्र प्रधान पल्ला, कैप्टन बिजेंद्र भाटी, बाबा बाबू राम पटेल, लीलू नेता जी, श्यामी नंबरदार, रण सिंह भाटी, विनय भाटी, जगत सिंह पाली, संजय बोड़ाकी, कृष्णपाल, राजू भाटी, ब्रहम सिंह भाटी, अजीत, राजवीर मास्टर जी, फतेह भाटी,देवेंद्र भोगपुर, सुरेन्द्र नागर इकला, सोनू प्रधान, धीरज भाटी दतावली, हेम सिंह एडवोकेट, जीतू चैंपियन, पृथ्वी सिंह, रामकुमार, धर्मपाल, हेतराम भाटी, नरेंद्र पांचाल सहित भारी तादाद में किसानों ने जन. जागरण अभियान में भाग लिया।