विजन लाइव/ग्रेटर नोएडा 
डीएमआईसी परियोजना से प्रभावित किसानों को नए भूमि अधिग्रहण कानून- 2013 के अनुसार बाजार दर का 4 गुणा मुआवजा, 20% प्लॉट एवं सभी युवाओं को रोजगार हेतु स्थानीय औद्योगिक इकाइयों में 50% आरक्षण दिए जाने  की मांग को लेकर ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण पर किसान अधिकार- युवा रोजगार आंदोलन के आह्वान पर चल रहे ।किसान- महापड़ाव के दूसरे दिन बड़ी संख्या में महिला व किसान मौजूद रहे।
किसानों की आवाज बुलंद करने के लिए फरीदाबाद और मेरठ के पूर्व सांसद और मीरा पर से वर्तमान विधायक अवतार से सिंह भड़ाना ने किसान के रूप में अपने सैकड़ों समर्थकों के साथ पहुंचकर समर्थन दिया, और 23 जनवरी को ग्रेटर नोएडा के किसानों की आवाज उच्च स्तर पर उठाने का भरोसा दिया।
किसान नेता सुनील फौजी ने बताया कि प्राधिकरण और प्रशासन के अधिकारी जान पूछ कर किसानों को गुमराह करने और उनका शोषण करने पर तुले हुए हैं, जिसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा, किसान अपना अधिकार तय कराने तक आंदोलन जारी रखेंगे। इस मौके पर सैकड़ों किसान और महिलाओं में बाबा रामचंद्र, मनीष भाटी बी डी सी, इंदर प्रधान, प्रसपा के जिलाध्यक्ष हरेंद्र भाटी, राजेश भाटी, दीपक भाटी,  राजेन्द्र प्रधान मकोड़ा, अमित पहलवान, डॉक्टर अरविंद नागर, सूबेदार ब्रह्मपाल, श्यामी नंबरदार, डाक्टर सुरेश भाटी, जयवीर भाटी, कृष्ण पाल, जगत सिंह पाली, संजय भाटी बोड़ाकी, अतर नेता , बीरम भाटी, नरेंद्र पांचाल, मास्टर राजवीर, सरदार भगत आदि किसान  मौजूद रहे ।