शमशान घाट, बरात घर एवं नलकूपों का प्लास्टर छत से और पानी गिरना भी शुरूः चौधरी प्रवीण भारतीय

 


विजन लाइव/ग्रेटर नोएडा

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के अंतर्गत आने वाले अधिकतर गांवों में ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के द्वारा बारात घर एवं शमशान घाट का निर्माण किया गया था। इन निर्माण कार्यो में मानक के अनुरूप कार्य नहीं किया गया है। घटिया किस्म की सामग्री के प्रयोग के कारण आज श्मशान घाट और बरातघर एवं नलकूपों की स्थिति बहुत दयनीय हैं। इस निर्माण में हुए भ्रष्टाचार की जांच की मांग के लिए करप्शन फ्री इंडिया ने ग्रेटर नोएडा औद्योगिक विकास प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालक अधिकारी नरेंद्र भूषण को संबोधित पत्र ओएसडी सचिन कुमार को सौंपा गया। करप्शन फ्री इंडिया के संस्थापक चौधरी प्रवीण भारतीय ने बताया कि ग्रेटर नोएडा औद्योगिक विकास  प्राधिकरण के द्वारा विभिन्न गांवों में शमशान घाट, बरात घर एवं नलकूपों आदि का निर्माण कार्य कराया गया था। लेकिन कुछ ही दिनों बाद शमशान घाट, बरात घर एवं नलकूपों का प्लास्टर छत से पानी गिरना प्रारंभ हो गया है। उन्होंने बताया कि ग्रेटर नोएडा औद्योगिक विकास  प्राधिकरण प्राधिकरण के द्वारा बनाए गए इन सभी निर्माण में घटिया किस्म की सामग्री का प्रयोग किया गया है। मानकों की अनदेखी कर प्राधिकरण के अधिकारियों ने इन निर्माण कार्यों के बजट को पास कर बड़ा भ्रष्टाचार किया है। चौधरी प्रवीण भारतीय ने बताया कि इस भ्रष्टाचार के खिलाफ संगठन के कार्यकर्ताओं ने ग्रेटर नोएडा औद्योगिक विकास प्राधिकरण कार्यालय प्रदर्शन कर ज्ञापन सौंपकर उन अधिकारियों की जांच कर जेल भेजने की मांग की है। इस मौके पर जिलाध्यक्ष मास्टर दिनेश नागर ने बताया कि बिलासपुर कसबे में 10 वर्ष पूर्व ग्रामीणों ने चंदा इकट्ठा कर शमशान घाट का निर्माण किया था लेकिन अब उसकी स्थिति दयनीय हो चुकी है। बिलासपुर शमशान घाट के निर्माण की मांग भी पत्र देकर की गई। इस दौरान संजय भैया,अरुण नागर, राकेश नागर, नीरज भाटी, रिंकू बैंसला, कुलवीर भाटी,नफीस अहमद, बंटी भाटी आदि पदाधिकारी और कार्यकर्तागण मौजूद रहे।