जी.पी. डब्ल्यू. एस के पदाधिकारियों ने 17 जनवरी को प्रस्तावित कैंडिल मार्च अनुमति नहीं मिलने पर बैठक की

विजन लाइव/गौतमबुद्धनगर

जी.पी. डब्ल्यू. एस के पदाधिकारियों ने 17 जनवरी को प्रस्तावित कैंडिल मार्च  को प्रशासन से अनुमति नहीं मिलने पर नोएडा स्टेडियम मे बैठक की और 17 जनवरी को ही गौतमबुद्धनगर के करीब 40 स्कूलो के एक एक या दो ऐक्टिव अभिभावकों को बुलाकर सभा कर आगे की रणनीति तैयार करने के साथ.साथ कैंडिल जला कर तथा 2 मिनट मौन रख कर सरकार के ख्सिलाफ विरोध प्रकट किए जाने का निर्णय लिया। जी.पी. डब्ल्यू. एस. के संस्थापक मनोज कटारिया ने बताया कि 17 जनवरी को करीब 40 स्कूलो के अभिभावकों से सभा करके आगे की रणनीति तैयार करेंगे। उन्होंने बताया कि अभिभावक पहले जिलाधिकारी, सांसद व जिले सभी विधायकों से मिलकर अपनी समस्याओं का समाधान मांगेंगे यदि उनसे अपेक्षाकृत जवाब नहीं मिला तो फिर जी.पी. डब्ल्यू. एस. मुख्यमंत्री या उप.मुख्यमंत्री/शिक्षा मंत्री से मिलने की कोशिश कर अभिभावकों की परेशानियों से अवगत कराएंगे। सोसाइटी के अध्यक्ष कपिल शर्मा ने कहा कि प्रशासन अभिभावकों को गुमराह करने की कोशिश कर रहा है। जिलाधिकारी और जिला विद्यालय निरीक्षक एक दूसरे पर बात टाल देते हैं और कोई भी अभिभावकों की समस्याओं को सुनने के लिए तैयार नहीं है। बैठक मे उपाध्यक्ष पल्लवी राय, एडवाइजर रणपाल अवाना, संगठन.सचिव रणधीर कुमार सिंह आदि पदाधिकारीगण उपस्थित रहे।