जीरो पॉइंट से दिल्ली जाते हुए किसान एकता संघ के कार्यकर्ता गिरफ्तार

 




विजन लाइव/ गौतमबुद्धगर

कृषि अध्यादेशो के विरोध में पूरे देश के किसान आंदोलनरत है, इससे सरकार पूरी तरह से बैकपुट पर गई है। भारतीय किसान यूनियन के अलग अलग गुट किसान आंदोलन में शामिल हैं और समर्थन दे रहे हैं। गौतमबुद्धगर से किसान एकता संघ ने आज 5 दिसंबर-2020 को दिल्ली कूच का ऐलान किया था। शनिवार को सुबह किसान एकता संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष सोरन  प्रधान के नेतृत्व में किसान एकता संघ के कार्यकर्ताओ ने कैंप कार्यालय दनकौर से काले कानूनों के विरोध में गाड़ी और ट्रैक्टरों के साथ दिल्ली के लिए कूच किया। किसान एकता संघ के जिला अध्यक्ष कृष्ण नागर ने बताया कि  जैसे ही किसान एकता संघ के कार्यकर्ता जीरो पॉइंट पहुंचे वहां पहले से मौजूद एडिशनल डीसीपी विशाल पांडे, एसीपी अब्दुल कादिर सहित भारी पुलिस बल ने बैरिकेड लगाकर किसानों को रोका। किसान और पुलिस की बैरिकेड पर बहुत झड़प हुई। झड़प होने के बाद किसान एकता संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष सोरन प्रधान ने साफ किया कि किसान एकता संघ के यह सभी दर्जनों कार्यकर्ता हर हाल में दिल्ली जाकर ही रहेंगे। तीखी नोंक झोंक के बाद पुलिस ने किसान एकता संघ के कार्यकर्ताओं हिरासत में लेकर पुलिस लाइन में जेल भेज दिया। इस मौके चौ बाली सिह, सोरन प्रधान, रमेश कसाना, देशराज नागर, गीता भाटी, राजेंद्र नागर, श्री कृष्ण बैसला, जतन प्रधान, बृजेश भाटी, आलोक नागर,  वंदना चौधरी, जगा देवी, सीमा पटेल, पप्पू प्रधान, अमित अवाना, जगदीश शर्मा, जयवीर नागर, प्रताप नागर, लोकश भाटी, विक्रम यादव, ललित अवाना, बल्ले नागर, कृष्ण शर्मा, शैलेश कुमार, सुरेश नंबरदार, महेंद्र कसाना, सुनील भाटी, अमित भाटी, रफीक कुरैशी, मनोज नागर, सुमित चपरगढ, जाफर खान, अमित नागर, वीके चौधरी, अरविंद सेक्रेटरी, राम मेहर प्रधान, आशु खान, इमरान खान, इरशाद उल्लाह, सजय नागर, सौरव वर्मा आदि पदाधिकारी और कार्यकर्तागण मौजूद रहे।

पुलिस अधिकारी हाथ जोडते भी नजर आए

मौहम्मद इल्यास/ग्रेटर नोएडा


किसान एकता संघ के कार्यकर्ता दिल्ली कूच के लिए आगे बढ रहे थे। जीरो प्वाइंट पर पुलिस ने बैरीकेडिंग लगा कर रास्ते को बंद कर दिया। किसानों ने बैरीकेडिंग को एक बार तो तोडने तक की कोशिश की। किंतु पुलिस ने घेरा बनाते हुए किसानों को पहले की रोक दिया और बैरीकेडिंग की सपोर्ट में जुट गए। इससे किसान एकता संघ के कई पदाधिकारियों और पुलिस अधिकारियों के बीच धक्का भी हुई। इस धक्का मुक्की में किसान एकता संघ महिला मोर्चा की राष्ट्रीय अध्यक्ष गीता भाटी भी पुलिस के बीच फंसी रह गईं। राष्ट्रीय अध्यक्ष गीता भाटी को दोनों ओर से महिला पुलिसकर्मियों ने घेरे लिया था। राष्ट्रीय अध्यक्ष गीता भाटी ने पुलिसकर्मियों को खरी खोटी सुनानी शुरू कर दी। तभी एक पुलिस अधिकारी राष्ट्रीय अध्यक्ष गीता भाटी की ओर तरफ बढे और हाथ जोडते हुए नजर आए। पुलिस अधिकारी यही कह रहे थे कि पुलिस की बदसूलुकी नही है बल्कि पुलिस किसानों को सिर्फ रोकने की कोशिश कर रही है।