विजन लाइव/ग्रेटर नोएडा

मकौड़ा के किसानो ने संजय भाटी व डा0 यतिंदर भाटी के नेतृत्व में सैकडां ग्रामीणों ने ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के द्वारा जबरन क़ब्ज़े की कार्यवाही के विरोध में अपने खेतों पर प्रदर्शन किया। इस मौक़े पर निशांत मकौड़ा ने बताया कि  गांव का अधिग्रहण माननीय उच्चतम न्यायालय द्वारा दिनांक 15-04-2011 में रद्द किया जा चुका है। प्रार्थीगण अपनी भूमि पर काबिज चले आ रहे हैं और अब ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण द्वारा जबरन क़ब्ज़े की साज़िश की जा रही है, जो माननीय न्यायालय के आदेश की अवहेलना होगी। वहीं रेलवे द्वारा गांव के 17 किसानो को नया मुआवज़ा दिया भी जा चुका है। इस मौक़े पर इस मौक़े पर सुधीर प्रधान,राजकुमार प्रधान,नरेंद्र भाटी, वेदप्रकाश,प्रताप सिंह भाटी,राजेंद्र भाटी, सुरेंद्र भाटी, कृष्णपाल, सर्वेस भाटी, सत्यप्रकाश भाटी,रामकुमार भाटी,योगेंद्र भाटी,सुग्रीव भाटी, जय भाटी, संजय भाटी,मनोज भाटी, धीरे भाटी, अजब भाटी, ईश्वर भाटी, रामधन भाटी,   नीर भाटी, सतीश भाटी, प्रमोद भाटी, अभिषेक भाटी आदि ग्रामीण उपस्थित रहे।