किसान एकता संघ की आपातकालीन बैठक में दिल्ली कूच किए जाने का फैसला

 


विजन लाइव/दनकौर

 किसान एकता संघ की बैठक राष्ट्रीय अध्यक्ष सोरन प्रधान की अध्यक्षता में कैंप कार्यालय राजेंद्र प्रधान फार्म हाउस दनकौर पर संपन्न हुई। इस बैठक में काले कानूनों के खिलाफ किसानों के आंदोलन के बारे में गहन चिंतन किया और रूपरेखा तैयार की गई, अंत में फैसला लिया गया कि इन काले कानूनों के खिलाफ कल दिल्ली कूच किया जाएगा। किसान एकता संघ के जिलाध्यक्ष कृष्ण नागर ने कहा कि जिस तरह से केंद्र सरकार देश के अन्नदाता के साथ बर्ताव कर रही है, वह अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण है। पिछले लंबे समय से किसान काले कानूनों के विरोध में आंदोलनरत है। इसी संबंध में आज कैंप कार्यालय पर वरिष्ठ पदाधिकारियों की आपातकालीन बैठक हुई है और कल शनिवार 28 नवंबर-2020 को किसान एकता संघ के सभी कार्यकर्ता और पदाधिकारी किसानों के आंदोलन के समर्थन में दिल्ली के लिए कूच करेंगे। राष्ट्रीय अध्यक्ष सोरन प्रधान ने कहा कि किसान एकता संघ का किसानों के आंदोलन को पूर्ण समर्थन है, किसी भी कीमत पर किसानों के अधिकारियों का हनन नहीं होने दिया जाएगा। इस मौके पर चौधरी बाली सिंह,रमेश कसाना,देशराज नागर,गीता भाटी,राजेंद्र सिंह नागर, कृष्ण बैसला,ब्रिजेश भाटी,जतन प्रधान,बालकिशन नवादा,पप्पू प्रधान,प्रमोद शर्मा,अमित अवाना,आलोक नागर,अखिलेश प्रधान,प्रताप नागर,लोकेश भाटी,बृजेश नवादा आदि पदाधिकारी और कार्यकर्तागण मौजूद रहे।