लखनउ में महिला द्वारा अपने को आग लगा लिए जाने का मामला उत्तर प्रदेश सरकार पर करारा तमाचाः चौधरी हसरूद्दीन

 


विजन लाइव/ग्रेटर नोएडा

पूर्व प्रदेश सचिव समाजवादी मजदूर सभा चौधरी हसरूद्दीन ने महिला द्वारा लखनए में आत्मदाह के प्रयास की घटना को लेकर योगी सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली सरकार पूरी तरह से विफल साबित हो चुकी है। यहां अफसर बेलगाम है और सरकार इस ओर से बेपरवाह बनी हुई है। यही कारण है कि लूट, हत्या, अपहरण और रेप व गैंग रेप जैसी घटनाओं के चलते हुए न तो आम आदमी ही सुरक्षित है और न ही महिलाएं सुरक्षित हैं। कब किसकी आबरू लूट जाए महिलाएं घर से निकालने तक से डरने लगी है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में भाजपा कार्यालय के गेट पर महराजगंज से आई महिला द्वारा आत्मदाह के प्रसास के मामले में, महिला बुरी तरह जल गई। हालांकि  आग लगाने के कारणों का पता अभी नहीं चल पाया है। उन्होंने कहा कि मीडिया की खबरों के अनुसार महिला का नाम अंजली तिवारी बताया जा रहा है। उक्त महिला जरूर सरकार की व्यवस्था से तंग रही होगी। उन्होंने कहा कि जब सारे रास्ते बंद होते हुए दिखाई दे रहे होते हैं तो व्यक्ति अंत में आत्महत्या की बात सोचता है। ऐसा ही लखनउ की इस घटना में भी हुआ है। उन्होंने कहा कि भाजपा की मोदी सरकार एक तरफ बेटी बचाओ बेटी पढाओं का नारा देती हैं और वही में उत्तर प्रदेश में भाजपा सरकार के शासन में न महिला सुरक्षित है और न ही बेटी सुरक्षित है और न ही बच्चा तथा बुजुर्ग। हाथरस की घटना का मामला अभी ठंडा नही हुआ है कि लखनउ में महिला द्वारा अपने को आग लगा लिए जाने का मामला उत्तर प्रदेश सरकार के मुंहू पर करारा तमचा है। उन्होंने कहा कि आए दिन प्रकाश में आ रही है इस तरह की घटनाओं में अफसरशाही बेशर्म साबित हो चुकी है और वहीं यूपी सरकार इन दोषी अफसरों को दंडित न करते हुए सिर्फ लीपापोती में लगी हुई है। उत्तर प्रदेश में इतना जंगलराज कायम हो गया है कि बहन बेटियों की इज्जत आबरू कतई सुरक्षित नही है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ में यदि थोडी सी भी नैतिकता बची है तो अपना इस्तीफा देकर जनतंत्र को सुरक्षित किए जाने का मार्ग प्रशस्त करें।