यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिरण के 11 अधिकारी व कर्मचारी कोरोना संक्रमित

 


सैनेटाईजेशन एवं साफ सफाई हेतु 22 अक्टूबर-2020 को यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिरण के कार्यालय बंद रहेगा

 


मौहम्मद इल्यास/ग्रेटर नोएडा


कंबख्त मनहूस नॉवेल कोरोना वायसस जाने का नाम ही नही ले रहा है। लॉकडाउन भी पुराना होने जा रहा है कि कोरोना अभी भी जमा बैठा है। यीडा में कोरोना ने फिर पहुंच बनाई है। यही कारण है कि यीडा ऑफिस को अब गुरूवार को बंद रखे जाने का निर्णय लिया गया है। यीडा यानी यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिरण के कार्यालय में इस बार भी 11 लोगों को कोरोना हुआ है। बुधवार को यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिरण के कार्यालय के लिए कोरोना के टैस्ट हुए जिनमें 11 लोगों की रिपोर्ट पॉजीटिव होने से हडकंप जैसी स्थिति पैदा हो गई। कोरोना की टैस्ट रिपोर्ट जैसी ही निगेटिव आती थी उक्त अधिकारी और कर्मचारी के खुशी का ठिकाना नही रहा जाता था और जिन लोगों की रिपोर्ट पॉजीटिव आ जाती थी सभी लोग उनसे दूर भाग रहे थे। बुधवार को दिन भर यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिरण के कार्यालय मे कोरोना ही छाया रहा। यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिरण के विशेष कार्याधिकारी शैलेंद्र कुमार भाटिया ने बताया कि आज 21 अक्टूबर-2020 को यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिरण के कार्यालय में कार्यरत अधिकारियों और कर्मचारियों के कोरोना टैस्ट कराए गए और जिसमें से 11 अधिकारियों और कर्मचारियों की रिपोर्ट कोरोना पॉजीटिव आई है। उक्त के दृष्टिगत कोरोना वायरस के संकम्रण एवं फैलाव की रोकथाम हेतु यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिरण के कार्यालय सैनेटाईजेशन एवं साफ सफाई हेतु दिनांक 22 अक्टूबर-2020 को पूर्णतः बंद रहेगा।