ग्रेटर नोएडा भाजपा नेता अयुब खान सैफी और नोएडा के वरिष्ठ भाजपा नेता चौधरी अख्तर खान की अगुवाई में कार्यकर्ताओं ने पगडी पहना और बुके देकर स्वागत किया

 



विजन लाइव/ग्रेटर नोएडा

जनाब हाजी जमाल सिद्दीकी को भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चे का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाए जाने पर कार्यकर्ताओं में खुशी का माहौल हैं। नवनियुक्त भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा राष्ट्रीय अध्यक्ष जनाब हाजी जमाल सिद्दीकी के राष्ट्रीय कार्यालय 6-ए दीनदयाल उपाध्याय मार्ग दिल्ली जाकर बधाई देने वाले कार्यकर्ताओं का तांता लगा हुआ है। भाजपा कार्यकर्ताओं की ओर से नवनियुक्त राष्ट्रीय अध्यक्ष जनाब हाजी जमाल सिद्दीकी को मिठाई खिलाकर और बुके देकर स्वागत किए जाने का सिलसिला जारी है। इस मौके जेवर विधान क्षेत्र के गांव बिरौंडा,ग्रेटर नोएडा निवासी भाजपा नेता अयुब खान सैफी और नोएडा के वरिष्ठ भाजपा नेता चौधरी अख्तर खान की अगुवाई में कार्यकर्ता राष्ट्रीय कार्यालय 6-ए दीनदयाल उपाध्याय मार्ग दिल्ली में बधाई देने के लिए पहुंचे और वहां पर पगडी पहना और बुके देकर उनका स्वागत किया। स्वागत के इस मौके पर नवनियुक्त भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा राष्ट्रीय अध्यक्ष जनाब हाजी जमाल सिद्दीकी ने कहा कि भाजपा ही एक ऐसी राजनीतिक पार्टी है जिसकी कथनी और करनी में कोई अंतर नही है। केंद्र सरकार और राज्यों की भाजपा सरकारों की ओर से अल्पसंख्यकों के विकास और कल्याण के लिए कई योजनाएं चलाई जा रही है और जिनका लाभ जरूरतमंदों को मिल भी रहा है। उन्होंने कहा कि भाजपा में मुसलमानों का हित पूरी तरह से सुरक्षित है। जब कि दूसरी गैर भाजपा सरकारों ने सिर्फ मुस्लिम तुष्टिकरण की नीति अपना कर मुसलमानों को विकास के रास्ते से दूर धकेलने का काम किया है। वरिष्ठ भाजपा नेता चौधरी अख्तर खान ने कहा कि भाजपा में अल्पसंख्यकों का विश्वास पहले की अपेक्षा कई गुना बढा है और आने वाले समय में पूरी तरह से अल्पसंख्यक समाज भाजपा के साथ मिलकर राष्ट्र निर्माण में अहम योगदान निभाएगा। ग्रेटर नोएडा भाजपा नेता अयुब खान सैफी ने कहा कि मुसलमान इस बात को भलि भांति समझ चुके हैं कि गैर भाजपा सरकारें सिर्फ उन्हें वोट बैंंक के रूप में इस्तेमाल करती आई हैं। किंतु भाजपा जो कहती है वह करती भी है। भाजपा में मुसलमान सुखी और खुशहाल हैं। उन्हांंने कहा कि जब से केंद्र में नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश में महतं योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में सरकारें आई हैं, कोई दंगा नही हुआ है। जब कि दूसरी सरकारों के दौरान आए दिन दंगे होते रहते थे और जिसकी कीमत मुसलमानों को ही चुकानी पडती थी।