सीएम योगी ने यमुना अथॉरिटी के फिल्म सिटी प्रस्ताव पर लगाई मुहर

फिल्म सिटी के साथ ही वर्ल्ड इलेक्ट्रोनिक और एक वर्ल्ड क्लास फाइनेंशियल सिटी भी बनेंगी





विजन लाइव/उत्तर प्रदेश

गौतमबुद्धनगर में यूपी की फिल्म सिटी बसाने का तोहफा आखिर ही मिल गया। मुंबई के बाद देश की यह फिल्म अब गौतमबुद्धनगर के यमुना सिटी में ही बसाई जाएगी। हालांकि गौतमबुद्धनगर में नोएडा, ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी ने भी अलग अलग स्थानों पर फिल्म सिटी बसाए जाने का प्रस्ताव उत्तर प्रदेश सरकार को भेजा था। इनमें सबसे पहले फिल्म सिटी बसाए जाने का प्रस्ताव यमुना अथॉरिटी ने उत्तर प्रदेश सरकार को भेजा था। यमुना अथॉरिटी ने सीएम की फिल्म सिटी बसाए जाने की 18 सितंबर-2020 की घोषणा के तत्काल बाद रविवार को ही प्रस्ताव भेज गया था। लखनऊ में आज मंगलवार को सीएम योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में यूपी में फिल्म सिटी बनाने को लेकर एक अहम बैठक हुई। इस बैठक में फिल्म सिटी बसाए जाने के लिए यमुना अथॉरिटी के प्रस्ताव को सबसे उम्दा पाया गया। यमुना अथॉरिटी ने फिल्म बसाने का प्रस्ताव यमुना एक्सप्रेस.वे के किनारे सेक्टर-21 में भेजा था। तत्काल ही यमुना अथॉरिटी ने यमुना एक्सप्रेस वे के किनारे सेक्टर.21 में 1000 हजार हेक्टेयर जमीन फिल्म सिटी के लिए प्रस्तावित कर दी थी। यमुना अथॉरिटी के इस प्रस्ताव पर दिग्गज फिल्म हस्तियों के बीच बैठक में सीएम योगी आदित्यनाथ की मुहर लग गई। इस प्रस्ताव में इलाके की सारी खूबियां भी बताई गई हैं। यहां से शूटिंग के लिए मथुरा, आगरा, जयपुर जैसे शहरों में आसानी से जाया जा सकता है। ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस वे भी सेक्टर.21 के समीप से होकर गुजरता है। अथॉरिटी के मुताबिक फिल्म सिटी के लिए औद्योगिक दर पर जमीन दी जाएगी। बैठक में सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि भारत का नाम भारत शकुंतला पुत्र भरत के नाम पर पड़ा है। उसी हस्तिनापुर के आस.पास के क्षेत्र में हम फिल्म सिटी प्रस्तावित कर रहे हैं। उत्तर प्रदेश भारतीय संस्कृति का एक केंद्र बिंदु है। प्राचीन पौराणिक कालखंड से लेकर अर्वाचीन काल तक देश की आजादी की लड़ाई में प्रदेश का योगदान रहा है। यहां भगवान राम से लेकर श्रीकृष्ण तक की जन्मस्थली है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तर प्रदेश से फिल्म उद्योग में कई हस्तियां हैं। अब तो उनको घर में ही माहौल मिलेगा। उत्तर प्रदेश आबादी के हिसाब से देश का सबसे बड़ा प्रदेश है। यहां पर 24 करोड़ की आबादी निवास करती है। बिहार, झारखंड, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, राजस्थान, हरियाणा, उत्तराखंड और दिल्ली की सीमाएं इससे मिलती हैं। इसके अलावा नेपाल की सीमा भी प्रदेश से मिलती हैं। यूपी की इस फिल्म सिटी के लिए गंगा और यमुना के बीच का भूभाग है। यमुना एक्सप्रेस वे जो दिल्ली को आगरा से जोडता है, उसके बीच में ये सारा क्षेत्र पड़ता है। उन्होंने कहा कि ये सिर्फ फिल्म सिटी तक सीमित नहीं रहेगा, हम वहां वर्ल्ड इलेक्ट्रोनिक सिटी भी देने जा रहे हैं और एक वर्ल्ड क्लास फाइनेंशियल सिटी भी वहीं प्रपोज करने जा रहे हैं, जो वहां से हर आर्थिक और वित्तीय गतिविधियों का संचालन कर सके। बैठक के अंत में उदित नारायण ने सीएम योगी के लिए सच और साहस है जिसके मन में, अंत में जीत उसी की रहे----गाना गया। इस पर सीएम ने ताली बजाकर उनका उत्साह बढ़ाया।  इस मौके पर बाहुबली फिल्म के लेखक विजेंद्र प्रसाद तो फिल्म सिटी के लिए 1000 हजार एकड़ जमीन मिलने से बेहद खुश नजर आए। उन्होंने कहा कि हमको तो उम्मीद थी कि 500 एकड़ जमीन ही मिलेगी। बाहुबली फिल्म के लेखक बृजेंद्र प्रसाद ने कहा कि मुझे ख़ुशी होगी कि इस फिल्म सिटी में आकर अपनी पूरी फिल्म को शूट कर सकूं। फिल्म अभिनेता, निर्माता.निर्देशक अनुपम खेर ने कहा कि सीएम योगी आदित्यनाथ ने फिल्म सिटी का जो बीज बोया है उसे हम खाद, पानी से सींचेंगे एवं सूरज की रोशनी में यह पलेगा बढ़ेगा। उन्होंने कहा कि यह तो साबित हो ही गया कि सीएम योगी आदित्यनाथ की सरकार काम करने में विश्वास करती है बोलने में नहीं। फिल्म अभिनेता, निर्माता, निर्देशक तथा उत्तर प्रदेश फिल्म बंधु के बड़े अधिकारियों के साथ इस बैठक में नोएडा, ग्रेटर नोएडा और यमुना एक्सप्रेसवे के सीईओ भी शामिल थे। यमुना एक्सप्रेस वे बोर्ड ने हजार एकड़ जमीन उपलब्ध होने की जानकारी शासन को पत्र लिखकर दी थी। आज की बैठक में उसी पर मुहर भी लग गई। साथ ही इस बैठक में साउथ फिल्म इंडस्ट्री से लेकर बॉलीवुड के नामी चेहरे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से जुड़े। इस बैठक में फिल्म निर्माता.निर्देशक शैलेष सिंह, केवी विजेंद्र प्रसाद, अशोक पंडित, कैलाश खेर, मनोज जोशी, नितिन देसाई, विनोद बच्चन, पद्म कुमार, हास्य कलाकार राजू श्रीवास्तव, गायक उदित नारायण व अनूप जलोटा शामिल थे। जब कि वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से निर्माता.निर्देशक सौन्दर्या, रजनीकांत, विवेक अग्निहोत्री, अनुपम खेर, नीरज पाण्डेय, डेविड धवन, सुभाष घई, शारिक पटेल, भूषण कुमार, चंद्र प्रकाश द्विवेदी, राज शांडिल्य, रवीना टंडन, परेश रावल, सतीश कौशिक, विशाल चतुर्वेदी, जॉन मैथ्यू प्रधान, प्रियदर्शन, महावीर प्रसाद, अनामिका श्रीवास्तव, महावीर जैन, मुराद अली खान, ओम राऊत, संदीप सिंह, दीपक दलवी व मनोज मुंतस्सिर शामिल थे।

 

 

 

 

 

>