एक तरफ सरकार एवं प्राधिकरण स्मार्ट विलेज की बात कर रही है, वहीं ग्रामीण छोटी.छोटी मूलभूत समस्याओं को लेकर परेशान हैंः चौधरी प्रवीण भारतीय






विजन लाइव/ग्रेटर नोएडा

यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण के अंतर्गत आने वाले दनकौर क्षेत्र के चपरगढ़ गांव में स्ट्रीट लाइट और मुख्य रास्तों पर जलभराव, सीवर, प्राथमिक विद्यालय के प्रांगण में जलभराव, शमशान घाट, पानी का नल आदि की मूलभूत समस्याओं के समाधान के लिए करप्शन फ्री इंडिया संगठन के कार्यकर्ताओं ने मुख्य कार्यपालक डा0 अरुणवीर सिंह को पत्र सौंपकर कार्रवाई की मांग की। करप्शन फ्री इंडिया संगठन के संस्थापक चौधरी प्रवीण भारतीय ने बताया कि यमुना प्राधिकरण के अंतर्गत आने वाला गांव चपरगढ़ के ग्रामीण देश की आजादी के 73 साल बाद एवं प्राधिकरण स्थापित होने के बाद भी मूलभूत सुविधाओं की बाट देख रहे हैं। एक तरफ सरकार एवं प्राधिकरण स्मार्ट विलेज की बात कर रही है, लेकिन वहीं ग्रामीण छोटी.छोटी मूलभूत समस्याओं को लेकर परेशान हैं। चौधरी प्रवीण भारतीय ने कहा कि चपरगढ़ गांव में पिछले लंबे समय से गांव की अधिकतर स्ट्रीट लाइट बंद हैं। नालिया एवं सीवर ओवरफ्लो कर रहे हैं, जिस कारण गंदा पानी गांव के रास्तों में फैल रहा है। प्राधिकरण की लापरवाही के कारण गांव में स्थापित प्राथमिक विद्यालय बारिश के कारण जलभराव होने से तालाब का रूप ले चुका है। कोर कमेटी के सदस्य संजय भैया ने कहा कि गांव में जगह.जगह गंदगी के अंबार लगे हुए हैं, जिस कारण संक्रमण रोग फैलने का खतरा बना हुआ है। स्मार्ट विलेज होने के बाद भी गांव में बच्चों को खेलने के लिए खेल का मैदान तक नहीं है। स्मार्ट विलेज होने के उपरांत गांव में सार्वजनिक शौचालय,बरात घर,खेल का मैदान एवं श्मशान घाट के साथ.साथ गांव के मुख्य रास्तों पर सरकारी नल लगाए जाने चाहिए। करप्शन फ्री इंडिया के उत्तर प्रदेश अध्यक्ष बलराज हूंण कहा कि यमुना विकास प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालक अधिकारी डा0 अरुण वीर सिंह ने तत्काल आदेश करते हुए गांव को स्मार्ट विलेज में लेने का आश्वासन दीया एवं मूलभूत समस्याओं के समाधान के लिए संबंधित अधिकारियों को आदेश जारी किया है। इस दौरान संजय भैया, आलोक नागर, बलराज हूण, प्रेम प्रधान, राकेश नागर एडवोकेट, धीरज खटाना, लोकेश राठी, नीरज भाटी, हबीब सैफी और राहुल गुर्जर आदि पदाधिकारी और कार्यकर्तागण उपस्थित रहे।

>