बच्चों को ऑनलाइन परीक्षा से बाहर कर बच्चों के साथ.साथ अभिभावकों का भी शोषण कर रहे हैं, पब्लिक स्कूलःचौधरी प्रवीण भारतीय

विजन लाइव/ग्रेटर नोएडा

वैश्विक महामारी कोरोना के दौरान आम जनमानस की आर्थिक स्थिति बहुत ही खराब हुई है, ऊपर से प्राइवेट पब्लिक स्कूलों का शोषण एवं फीस जमा कराने का दबाव और ऑनलाइन परीक्षा से बच्चों को बाहर कर रहे हैं। प्राइवेट स्कूलों की मनमानी व शोषण के खिलाफ करप्शन फ्री इंडिया संगठन के कार्यकर्ताओं ने कासना स्थित कार्यालय पर बैठक कर निर्णय लिया कि मंगलवार को जिला मुख्यालय पर विरोध प्रदर्शन कर जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपेंगे। करप्शन फ्री इंडिया संगठन के संस्थापक चौधरी प्रवीण भारतीय ने कहा कि वैश्विक महामारी कोरोना के दौरान लोगों के निजी व्यवसाय व नौकरियां छूटने के कारण आर्थिक स्थिति का संकट आ खड़ा हुआ है, ऊपर से जनपद के प्राइवेट स्कूल मनमानी कर अभिभावकों पर फीस जमा कराने का दबाव एवं बच्चों को ऑनलाइन परीक्षा से बाहर कर बच्चों के साथ.साथ अभिभावकों का भी शोषण कर रहे हैं। स्कूलों की इस मनमानी को बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। करप्शन फ्री इंडिया संगठन के संस्थापक सदस्य आलोक नागर ने कहा कि प्राइवेट स्कूलों के द्वारा बच्चों एवं अभिभावकों के शोषण के विरोध में संगठन के कार्यकर्ताओं ने बैठक कर निर्णय लिया है कि मंगलवार को सुबह 11.00 बजे संगठन के कार्यकर्ता जिला मुख्यालय पर प्रदर्शन कर जिलाधिकारी महोदय को संबोधित पत्र सौंपकर इन प्राइवेट स्कूलों के खिलाफ कार्रवाई की मांग करेंगे। इस दौरान आलोक नागर, बलराज हूण, जीत सिंह, बैसोया, मास्टर दिनेश नागर, हरेंद्र कसाना, राकेश नागर, रिंकू बैसला, सुमित भाटी, ठाकुर विमलेश सिंह और हबीब सैफी आदि पदाधिकारी और कार्यकर्तागण उपस्थित रहे।