विजन लाइव/  बहराइच
बहराइच। कवि, साहित्यकार एवं समाजसेवी डॉ0 अशोक पाण्डेय "गुलशन " को कोनिपा एवं आई0 टी0 एम0 यू0 टी 0 ब्राज़ील द्वारा चांसलर प्रो0डॉ0 देबब्रत सरकार की अनुशंसा से मानव सेवा, शान्ति एवं  कोरोना के  संक्रमण से बचाव हेतु की गई चिकित्सा एवं समाज सेवा सम्बन्धी  कार्यों  हेतु "डॉक्टर ऑफ फिलॉसफी इन पीस एंड ह्यूमैनिटी " की मानद उपाधि से सम्मानित किया गया । चांसलर डॉ0 सरकार ने डॉ0 गुलशन के 45 विश्व रिकॉर्ड को महत्वपूर्ण  मानते हुए देश तथा समाज हित में उनके द्वारा दिये गये  सराहनीय योगदान की प्रशंसा की है।
डॉ0 गुलशन को  देश-विदेश की विभिन्न संस्थाओं द्वारा कोरोना योद्धा के रूप में अब तक एक सौ सत्तानबे  सम्मानों तथा पुरस्कारों से विभूषित किया गया है।
साहित्य के क्षेत्र में इन्हें 392  सम्मान, पुरस्कार तथा उपाधियाँ प्राप्त हैं तथा इनकी 25 पुस्तकें प्रकाशित हैं तथा विदेश सहित भारत के 25 प्रान्तों से प्रकाशित 1187 प्रकार के पत्र-पत्रिकाओं में इनके लेख व रचनायें प्रकाशित हो चुकी हैं ।
भारत के 15 प्रान्तों के अलावा इन्हें ब्राज़ील, इंडोनेशिया, भूटान, थाईलैंड, नाइजीरिया, लन्दन, क्रोएशिया, वेनेजुएला, अर्जेंटीना, श्री लंका, बांग्लादेश, स्वीडन तथा नेपाल की विभिन्न  संस्थाओं द्वारा सम्मानित किया गया है।
      इनके नाम 45 वर्ल्ड रिकॉर्ड हैं जिसमें विश्व की सबसे छोटी, सबसे बड़ी और सबसे लम्बी ग़ज़ल, सबसे लम्बा गीत, दोहा ग़ज़ल, मुहावरा ग़ज़ल लिखने का विश्व रिकॉर्ड भी इन्हीं के नाम है तथा एक वर्ष में सबसे अधिक एवं अब तक प्राप्त सबसे अधिक सम्मानों का विश्व रिकॉर्ड भी इन्हीं के नाम है।