दोस्तो के संग मिलकर 10 दिन पहले चचरे भाई के अपहरण की बनाई थी, योजना बनाई


विजन लाइव/गौतमुद्धनगर
थाना सैक्टर 49 पुलिस द्वारा 02 अपहरणकर्ता अभियुक्त पीयूष यादव पुत्र बिजेन्द्र यादव निवासी सर्फाबाद सैक्टर 73 नोएडा व उसके साथी जुबेर पुत्र वकील निवासी मोहल्ला कछला कसबा व थाना कोतवाली जिला बदांयू वर्तमान पता सदरपुर थाना सैक्टर-39 नोएडा को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने गिरफ्तार अभियुक्तों के कब्जे से घटना में प्रयुक्त एक मोबाइल फोन सैमसंग कंपनी का बरामद किया गया है। गौरतलब है कि दिनांक 28.07.2020 को संदीप यादव पुत्र श्री महावीर यादव निवासी ग्राम सर्फाबाद सैक्टर 73 नोएडा ने सूचना दी कि उसका पुत्र उम्र करीब 02 वर्ष समय करीब 0900 बजे घर के बाहर खेल रहा था। खेलते समय उसके पुत्र का अज्ञात लोगो ने अपहरण कर लिया है और अपरहरणकर्तां उसके मोबाइल पर अज्ञात मोबाइल नं0 से धमकी दे रहे हैं कि तुम्हारा लडका मेरे कब्जे में है ज्यादा होशियारी की तो हम उसे काट कर फैंक देंगे। डीसीपी कार्यालय नोएडा सेक्टर-6 में आयोजित पत्रकार वार्ता में अपर पुलिस आयुक्त श्रीपर्णा गांगुली ने बताया कि संदीप यादव ने घटना की सूचना समय करीब 12.30 बजे 112 नंबर पर दी। इस सूचना पर थाना सैक्टर 49 नोएडा पुलिस द्वारा तत्काल मु00सं0 659/2020 धारा 364/506 भादवि व पंजीकृत करते हुए थाना स्तर पर टीम गठित कर तत्काल अपहरत बच्चे की तलाश शुरू की गई। पुलिस ने टीम ने अपहरण की सूचना प्राप्त होने के लगभग एक घंटे के अन्दर ही अपहरत बालक  को सैक्टर 72 नोएडा के पार्क से बरामद कर परिजनो के सुपुर्द कर दिया। उन्होंने बताया कि गिरफ्तार अभियुक्त पीयूष यादव ने अपने दोस्तो जुबेर, व एक अन्य के साथ मिलकर करीब 10 दिन पहले अपने चचरे भाई के अपहरण की योजना बनाई थी। उसी योजना के अनुसार उसने अपने दोस्तों के साथ मिलकर अपहरण किया था। उसने अपने चाचा संदीप यादव के घर के बाहर से बालक को उठाकर मोटरसाइकिल पर ले जाकर गांव के शिवमंदिर के पास जुबेर व एक अन्य दोस्त को दे दिया था। अपर पुलिस आयुक्त श्रीपर्णा गांगुली ने बताया कि अपहृत बच्चे को अपने दोस्त के मकान सदरपुर सैक्टर 45 नोएडा में रखा था। पुलिस की तत्परता व कार्यवाही को देखते हुए वह लोग घबरा गए थे तथा उसके द्वारा अपने दोस्तों को फोन से सूचना देने पर उन दोनों ने बच्चे को सैक्टर 72 पार्क में छोडकर वहां से भाग गए थे। फरार अभियुक्त की गिरफ्तारी के प्रयास जारी है। अभियुक्तों से विस्तृत पूछताछ की जा रही है।

>