विजन लाइव/ग्रेटर नोएडा
आर-सिस्टम ‘‘इन्नोवेशन डेवलपमेंट इन मोबाइलिटी‘‘द्वारा आई0टी0एस0 इन्जीनियरिंग कॉलेज में मोबाइल एप्लिकेशन डेवलेपमेंट पर एक बेविनार का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के मुख्य वक्ता मुकेश कमार, समन्वयक आर सिस्टम  ने प्रोग्रामिंग, सुरक्षित और उत्तरदायी मोबाइल एप्लिकेशन के निर्माण के लिए आवश्यक उपकरणों के विभिन्न तकनीकी पहलुओं के बारे में बताया और कहा मोबाईल एप्लिकेशन डेवलपमेंट एक मोबाइल डिवाइस पर चलने वाले सॉफ्टवेयर एप्लिकेशन बनाने की प्रक्रिया है, और एक सामान्य मोबाइल एप्लिकेशन कम्प्यूटिंग संसाधनों के साथ काम करने के लिए नेटवर्क कनेक्शन का उपयोग करता है इसलिए मोबाइल विकास प्रक्रिया में इंस्टॉल करने योग्य सॉफ्टवेयर (कोड, वायनेटी नं0, एसेटस इत्यादि) बनाना, बेकएंड सेवाओं जैसे एपीआई के साथ डेटा एक्सेस को लागू करना ओर लक्ष्य उपकरणों पर एप्लिकेशन का परीक्षण करना शामिल है। मोबाइल एप्लिकेशन बनाते समय विकास के चार प्रमुख दृष्टिकोण है- 1. नेटिव मोबाइल एप्लीकेशन, 2. क्रास-प्लेटफार्म नेटिव मोबाइल एप्लिकेशन, 3ण्हाइब्रिड मोबाइल एप्लिकेशन, 4ण्प्रगतिशील बेब एप्लीकेशन इस बेविनार में कम्प्यूटर साइ्रंस विभाग के दूसरे ओर तीसरे वर्ष के छात्र उपस्थित रहे। विभाग के एचओडी डा0 आशीष ने इस तरह के डेवलपमेंट कार्यक्रम कराने के लिए आर सिस्टम के समन्वयक को बधाई दीं।