ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के अधिकारियों की करनी और कथनी में भारी अंतरःचौधरी प्रवीण भारतीय

विजन लाइव/ग्रेटर नोएडा
ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के अंतर्गत आने वाले गांव पीपलका में प्राधिकरण की लापरवाही से गांव के रास्तों में कीचड़ एवं जलभराव के कारण लोगों का जीना दुश्वार हो चुका है। इसकी शिकायत करप्शन फ्री इंडिया संगठन के कार्यकर्ताओं ने ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालक को संबोधित पत्र देकर समस्या का समाधान करने की मांग की है। करप्शन फ्री इंडिया संगठन के संस्थापक चौधरी प्रवीण भारतीय ने बताया कि ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के अंतर्गत आने वाले गांव पीपलका के मुख्य रास्ते में जलभराव एवं कीचड़ होने के कारण लोगों को भारी समस्या का सामना करना पड़ रहा है। गांव के मुख्य रास्ते के दोनों तरफ की नालियां टूटी हुई है जिस वजह से नालियों का पानी रास्ते में भर जाता है। वही बरसात के इस मौसम में संक्रमण रोग का भी खतरा बना हुआ है। रणवीर सिंह के मकान से तुलेराम के मकान तक यह समस्या बनी हुई है। ग्रामीण इस समस्या से बहुत परेशान हैं और इससे ग्रामीणों का निकलना भी दुश्वार हो चुका है। चौधरी प्रवीण भारतीय ने कहा कि एक तरफ तो ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के वरिष्ठ अधिकारी यह कह रहे हैं कि प्राधिकरण ने स्मार्ट विलेज का निर्माण किया है। वहीं दूसरी तरफ गांव गंदगी एवं कीचड़ के कारण सिसक रहे हैं, जो कि निंदनीय हैं। उन्होंने बताया कि ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के अधिकारियों की कथनी और करनी में बहुत अंतर है। चौधरी प्रवीण भारतीय ने कहा कि जल्द ही समस्या का समाधान नहीं हुआ तो ग्रामीण एवं संगठन के कार्यकर्ता प्राधिकरण पर प्रदर्शन करेंगे।