करप्शन फ्री इंडिया संगठन ने प्रधानमंत्री से शैली बंसल को शहीद का दर्जा देने सभी सुविधाओं का लाभ परिजनों को देने की मांग की


विजन लाइव/ग्रेटर नोएडा
. दिल्ली पुलिस में कार्यरत सिपाही शैली बंसल की कोरोना महामारी के दौरान 24 मई-2020 को हुई मृत्यु के संबंध में चल रहे विवाद में करप्शन फ्री इंडिया संगठन के संस्थापक चौ प्रवीण भारतीय ने प्रधानमंत्री पोर्टल पर पत्र लिखकर शैली बंसल को शहीद का दर्जा देने कोरोना महामारी के दौरान सरकार द्वारा घोषित सभी सुविधाओं का लाभ परिजनों को देने की मांग की है। करप्शन फ्री इंडिया संगठन के संस्थापक चौधरी प्रवीण भारतीय ने बताया कि संगठन ने प्रधानमंत्री पोर्टल पर लिखे पत्र में मांग की है कि यूपी के हापुड़ के छोटे से गांव की गरीब पारिवारिक पृष्ठभूमि से आने वाली शैली बंसल दिल्ली पुलिस में सिपाही के पद पर कार्यरत थी। नंदनगरी थाने में ड्यूटी करते हुए उसकी तबियत अचानक खराब हुई। उसके बाद उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया और जहां 24 मई-2020 को उसकी मृत्यु हो गयी। शैली बंसल का शुरू में किया गया कोरोना टेस्ट नेगेटिव था जबकि उसके साथ ड्यूटी करने वाले सभी सिपाही कोरोना पीड़ित मिले। चौधरी प्रवीण भारतीय ने बताया कि संगठन ने पत्र के माध्यम से प्रधानमंत्री से मांग की है कि शैली बंसल को कोरोना योद्धा मानते हुए उसे शहीद का दर्जा देते हुए उसके परिवार को सभी सुविधाएं प्रदान की जाए तथा उसके परिवार से एक सदस्य को नौकरी भी दी जाए।  करप्शन फ्री इंडिया संगठन के जिलाध्यक्ष मास्टर दिनेश नागर ने बताया कि जब एम्स के डॉक्टर रिपोर्ट्स लक्षणो के आधार पर शैली बंसल को कोरोना से ग्रसित मान रहे हैं तो सरकार पक्षपात क्यों कर रही है? उन्होने कहा कि जल्द ही संगठन के कार्यकर्ता मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से मुलाकात करके स्व0 शैली बंसल को न्याय दिलाने की मांग करेंगे।