झाड़ियां उगी होने के कारण  शमशान घाट में शवों को ले जाने में भारी दिक्कत का सामना करना पड़ता है
पूर्व कांग्रेस जिला अध्यक्ष मनोज चौधरी ने धरना प्रदर्शन का ऐलान करते हुए ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण को चेताया है कि यदि तुगलपुर गांव के श्मशान घाट का रखरखाव साफ सफाई और सौंदर्य करण नहीं कराया गया तो ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के समक्ष ग्रामीण धरना प्रदर्शन के लिए मजबूर हो जाएंगे

मौहम्मद इल्यास- "दनकौरी" /ग्रेटर नोएडा
ग्रेटर नोएडा शहर को नई पहचान देने वाला तुगलपुर गांव अपनी बदहाली पर आंसू बहा रहा है। बुनियादी सुविधाओं तक के लिए तुगलपुर के ग्रामीण तरस रहे हैं। तुगलपुर गांव के श्मशान घाट के जाने के लिए रास्ता सही हालत में नहीं है। झाड़ियां उगी होने के कारण  शमशान घाट में शवों को ले जाने में भारी दिक्कत का सामना करना पड़ता है। इस ओर से ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण पूरी तरह से आंखें मूंदे हुए हैं। कांग्रेस के पूर्व जिला अध्यक्ष मनोज चौधरी ने ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण को कई बार पत्र लिखकर श्मशान घाट के रास्ते की साफ-सफाई किए जाने की मांग की थी। किंतु इन तमाम मांग पत्रों के बावजूद भी ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण गहरी नींद में सोया रहा है। अब पुनः कॉन्ग्रेस के पूर्व जिला अध्यक्ष मनोज चौधरी ने ट्वीट के जरिए ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण सीईओ, डीएम गौतमबुद्धनगर और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को अवगत कराया है तुगलपुर गांव के श्मशान घाट के रास्ते की मरम्मत और साफ-सफाई कराई जावे। साथ ही पूर्व कांग्रेस जिला अध्यक्ष मनोज चौधरी ने धरना प्रदर्शन का ऐलान करते हुए ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण को चेताया है कि यदि तुगलपुर गांव के श्मशान घाट का रखरखाव साफ सफाई और सौंदर्य करण नहीं कराया गया तो ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के समक्ष ग्रामीण धरना प्रदर्शन के लिए मजबूर हो जाएंगे। कांग्रेस के पूर्व जिला अध्यक्ष मनोज चौधरी ने "विजन लाइव "को बताया कि हाइटेक सिटी ग्रेटर नोएडा को  हलदोना तुगलपुर गांव  ने एक नई पहचान दी है। हलदोन तुगलपुर गांव की जमीन पर ही परी चौक गोल चक्कर से लेकर 0 पॉइंट तक का एरिया ग्रेटर नोएडा शहर के विकास में चार चांद लगा रहा है। साथ ही नॉलेज पार्क वन, टू  और थर्ड का एरिया एजुकेशन हब में तब्दील है जो उत्तर प्रदेश ही नहीं बल्कि देश के लिए भी एक खास पहचान रखता है। इसके साथ ही अल्फा बीटा जैसे कई दूसरे सेक्टर भी गांव की जमीन पर आबाद है। इन सबके बावजूद तुगलपुर हलदोना गांव की बुनियादी सुविधाओं की ओर ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण का ध्यान नहीं है। उन्होंने बताया कि गांव का श्मशान घाट जर्जर अवस्था में है, जहां जाने तक के लिए रास्ता खराब है और झाड़ियां उगी हुई है साफ-सफाई तक नहीं हो पाई है। इस श्मशान घाट का रखरखाव कर सौंदर्यीकरण कराया जाए और रास्तों को दुरुस्त कर साफ-सफाई कराई जाए अन्यथा ग्रामीण ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण कार्यालय के समक्ष धरना प्रदर्शन करेंगे।