BRAKING NEWS

6/recent/ticker-posts

Header Add

सूरजपुर आर्य समाज मंदिर में श्रावणी पर्व और रक्षाबंधन पर्व के उपलक्ष्य में हवन यज्ञ और सत्संग किया गया

 



रक्षाबंधन पर्व और श्रावणी पर्व के मौके कई युवकों ने पुराने जनेउ उतार कर नए जनेउ धारण किए

यज्ञोपवीत और श्रावणी पर्व का आर्य समाज में विशेष महत्व हैः आचार्य कर्ण सिंह

विजन लाइव/सूरजपुर

सूरजपुर स्थित आर्य समाज मंदिर में श्रावणी पर्व मनाया गया। रक्षाबंधन पर्व और श्रावणी पर्व के उपलक्ष्य में हवन यज्ञ और सत्संग किया गया। आचार्य कर्ण सिंह ने कहा कि यज्ञोपवीत और श्रावणी पर्व का आर्य समाज में विशेष महत्व है। श्रावणी के साथ नये यज्ञोपवीत के धारण और पुराने के छोड़ने की भी प्रथा जुड़ी हुई है। इस का भी प्रधान कारण है। गृह्यसूत्रों में विभिन्न कर्मों के समय विभिन्न प्रकार से यज्ञोपवीत के धारण करने का विधान है। निवीति, उपवीति, प्राचीनावीति आदि संज्ञाएं इसी आधार पर हैं। यह भी एक गृह्यसूत्रों के आधार पर परिपाटी है कि प्रत्येक प्रधान उत्तम यज्ञयाग आदि कर्मों के समय नया यज्ञोपवीत धारण किया जाये। 





उसी आधार की पोषिका यह श्रावणी पर यज्ञोपवीत बदलने की प्रथा भी है। आर्य समाज मंदिर सूरजपुर के प्रधान पंडित मूलचंद आर्य ने कहा कि यज्ञोपवीत का आर्यों के संस्कार और कर्मकाण्ड में बड़ा ही महत्त्व है। यज्ञोपवीत के तीन धागे गले में पड़ते ही वह पितृऋण, देवऋण और ऋषिऋण आदि कर्त्तव्यों से अपने को बन्धा हुआ समझने लगता है। यहां उपनयन, यज्ञोपवीत, व्रतबन्ध आदि पद इस संबंध में विशेष महत्त्व के हैं। आर्य समाज मंदिर के सूरजपुर के महामंत्री पंडित धर्मवीर आर्य ने कहा कि श्रावण माह के पूरा होने पर रक्षाबंधन का पर्व आता है। इसी दिन श्रावणी पर्व मनाए जाने की प्रथा सदियों से चली रही हैं। गृह्यसूत्रों में विभिन्न कर्मों के समय विभिन्न प्रकार से यज्ञोपवीत के धारण करने का विधान है। निवीति, उपवीति, प्राचीनावीति आदि संज्ञाएं इसी आधार पर हैं। उन्होंने कहा कि श्रावणी पर्व के मौके कई युवकों ने पुराने जनेउ उतार कर नए जनेउ धारण किए हैं।




आर्य समाज मंदिर सूरजपुर के कोषाध्यक्ष पंडित शिवदत्त आर्य, उप प्रधान भूदेव शर्मा,सीआरपीएफ ग्रुप सेंटर सूरजपुर के डिप्टी कमाडेंट लक्ष्मीचंद आर्य आदि अतिथियों ने श्रावणी पर्व और रक्षाबंधन पर्व के महत्व पर प्रकाश डाला। साथ ही एक दूसरे को रक्षाबंधन और श्रावणी पर्व की बधाई दी गई। यज्ञमान सीआईएसएफ सूरजपुर के हवलदार मंजीत सिंह आर्य रहे। इस मौके पर आदित्य आर्य, राहुल आर्य, भूपेंद्र आर्य, शिवम आर्य,चौधरी ब्रहमपाल आर्य, सत्यपाल आर्य और राजकुमार आर्य आदि उपस्थित रहे।