BRAKING NEWS

6/recent/ticker-posts

Header Add

एनआईईटी ग्रेटर नोएडा नोडल सेंटर टॉयकैथान-2022, विजेता टीम को मिला रु 25000 ईनाम

 

>

विजन लाइव/ग्रेटर नोएडा

 एनआईईटी ग्रेटर नोएडा नोडल सेंटर टॉयकैथान-2022 के समापन समारोह में विजेताओं घोषणा की गयी। कुल 7 टीमें विजेता रही तथा प्रत्येक टीम को भारत सरकार की ओर से रु 25000 पुरस्कार स्वरूप दिये गए। विदित हो कि एनआईईटी के मैनेजिंग डाइरेक्टर डॉ  पी अग्रवाल ने सभी विजेता  टीमों को रु 5000 का नकद पुरस्कार एनआईईटी संस्थान की ओर से प्रदान किया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि ब्रिगेडियर डॉ राकेश गुप्तानिदेशकजिम्सग्रेटर नोएडा ने प्रतिभागियों का उत्साहवर्धन किया। उन्होने  कठिन परिश्रमपक्का इरादा और राष्ट्र के प्रति समर्पण की भावना को ही जीवन का सार बताया।  उन्होने आगे कहा कि निश्चित रूप से ये प्रतिभागी देश के विकास की नयी परिभाषा लिखने की क्षमता रखते हैं। एक डॉक्टर होने के नाते मैं यह समझ सकता हूँ कि लगातार 36 घंटे काम करके इन प्रतिभागियों ने अपनी लगन और समर्पण का जो परिचय दिया है वो काबिलेतारीफ है।उन्होने सभी प्रतिभागियों से कहा कि ज्ञान प्राप्त करने के लिए अच्छी किताबें जरूर पढ़ें और केवल इंटरनेट तक सीमित  रहें।जानने और सीखने का जज़्बा अपने अंदर हमेशा जिंदा रखें।   

>

इस अवसर पर एनआईईटी के मैनेजिंग डाइरेक्टर डॉ  पी अग्रवाल ने कहा कि किसी भी प्रतियोगिता की सफलता उसके प्रतिभागियों पर निर्भर करतीहै। इस प्रतियोगिता में तमिलनाडुतेलंगानावेस्टबंगालउत्तराखंडतथायूपीसे 32 टीमों ने कड़ा संघर्ष किया है और विजेताओं को चुनना निर्णायक मण्डल के लिए बड़ा कठिन रहा। उन्होने कहा कि ये सभी बच्चे बधाई के पात्र हैंजो जीते हैं वो भी और जो जीत नहीं पाये वो भी बधाई के पात्र हैं क्यूंकि प्रतियोगिता में भाग लेना ही साहस की बात है। 

संस्थान के निदेशक डॉ विनोद एम कापसे ने स्वागत उद्बोधन दिया। एनआईईटी ग्रेटर नोएडा नोडल सेंटर के स्पोक डॉ प्रवीण पचौरी ने सभी प्रतिभागी टीमों के खिलौनोंके विषय में विस्तार पूर्वक जानकारी दी। डॉ पचौरी ने बताया कि टॉयकैथान-2022 फिजिकल एडिशन के नोडल सेंटर एनआईईटी ग्रेटर नोएडा में फाइनल राउंड में 32 टीमों के बीच कांटे की टक्कर देखकर निर्णायक मण्डल भी विस्मित हो गए। प्रतिभागियों ने भारतीय संस्कृतिसभ्यतापौराणिक कथाओंलोकनीतिइतिहासवैदिकगणितमहापुरुषोंप्रमुख घटनाओं आदि पर आधारित एक से बढ़कर एक खिलौने और खेल बनाए हैं। 

>

भारत सरकार की ओर से नियुक्त नोडल अधिकारी डॉ के एलनगोवन ने संस्थान के योगदान  भूरि- भूरि प्रसंशा की।उन्होने निर्णायक मण्डल का आभार व्यक्त किया और विजेता टीमों की घोषणा की 

इस अवसर पर एआईसीटीई से श्री उद्यन मौर्यसंस्थान के महानिदेशक श्री प्रवीण सोनेजाडॉ विनोद एम कापसेडॉ बी सी शर्माप्रो हर्ष अवस्थीप्रो मयंक दीप खरेप्रो अदिति मट्टूडॉ पवन शुक्लाडॉ वी के पांडेडॉ मनीष कौशिकप्रो कनिका जिंदलप्रो संजय कुमारडॉ सी एस यादवडॉ रितेश रस्तोगीप्रो अलका सिंहप्रो राकेश कुमार सिंहप्रो विक्रांत मलिकप्रो पीतांबर अधिकारी,  श्री संजीव गुप्ताडॉ के पी सिंहडॉ अंशुमन सिंहविनय  तिवारीडॉ हितेश सिंहडॉ पंकज त्यागी  आदि लोग उपस्थित रहे