>

लगातार चल रहा है, गौतमबुद्धनगर में सीएम योगी का बुल्डोजर

 


बाबा शाह फिरोज चिश्ती रहमतुल्लाह आलेहि दनकौरी की दरगाह उर्स मेले की करीब 9 बीघा जमीन पर कब्जा किए जाने की शिकायत मुख्य कार्यापालक अधिकारी यमुना  एक्सप्रेस-वे औद्योधिक विकास प्रधिकरण के नाम एक पत्र लिख कर की गई थी

 









मौहम्मद इल्यास-’’दनकौरी’’/गौतमबुद्धनगर

सीएम योगी का बुल्डोजर गौतमबुद्धनगर में लगातार चल रहा है। यमुना  एक्सप्रेस-वे औद्योधिक विकास प्रधिकरण क्षेत्र ने झाझर में पहले ही अवैध कालौनियों को ढहा दिया। अब दनकौर में कब्जा की हुई जमीन पर सीएम योगी का बुल्डोजर चल गया। बताया गया है कि जिस जमीन का खाली कराया गया है वह दनकौर क्षेत्र की प्रसिद्व व पवित्र बाबा शाह फिरोज चिश्ती रहमतुल्लाह आलेहि दनकौरी की दरगाह की है। बाबा शाह फिरोज चिश्ती रहमतुल्लाह आलेहि दनकौरी की दरगाह पर सालाना उर्स मेला लगता है। उर्स मेले के प्रयोजन के लिए करीब 9 बीघा पक्का रकबा तहसील अभिलेखों में दर्ज किया गया था। किंतु इस भूमि का नंबर कई दूसरों खातों में मिला हुआ है। यही कारण है कि दूसरे पक्ष के लोगों के द्वारा मौके बेमौके इस जमीन पर कब्जा किया जाता रहा है। गौरतलब है कि बाबा शाह फिरोज चिश्ती रहमतुल्लाह आलेहि दनकौरी की दरगाह उर्स मेले की करीब 9 बीघा जमीन पर कब्जा किए जाने की शिकायत मुख्य कार्यापालक अधिकारी यमुना  एक्सप्रेस-वे औद्योधिक विकास प्रधिकरण के नाम एक पत्र लिख कर की गई थी। गत दिनांक 9 मार्च-2022 को शिकायत मुख्य कार्यापालक अधिकारी यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योधिक विकास प्रधिकरण को की गई तो यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योधिक विकास प्रधिकरण हरकत में आया और ओसडी लैंड का मामला अग्रिम कार्यवाही के लिए प्रेषित किया गया। उधर जैसे ही उत्तर प्रदेश में एक बार फिर सीएम योगी ने पुनः सत्ता संभाली तो एक तरह से राज्य में योगी का बुल्डोजर गर्जना शुरू हो गया।


मुख्य कार्यापालक अधिकारी यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योधिक विकास प्रधिकरण को दी गई शिकायत में अवगत कराया गया है कि खाता संख्या 01130 के गाटा संख्या 166 मि. नया गाटा संख्या 181 का कुल रकबा 32.3840 है0 में स्थित है, उक्त खाता संख्या 01130 के गाटा संख्या 166 मि. नया गाटा संख्या 181 का कुल रकबा 32.3840 है0 जिसमें चिश्ती बाबा पीर और उर्स मेला का कुल रकबा 0.7590 है0 राजस्व अभिलेखों में नाम कागजात माल में दर्ज चला आ रहा है। वर्तमान गाटा संख्या 181 कुल रकबई 32.3840 है0 में सहखातेदार है तथा यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण भी उक्ता खाता व गाटा संख्या में सहखातेदार है। साथ ही उक्त गाटा संख्या में बाबा शाह फिरोज चिश्ती की दरगाह व उर्स मेले के प्रयोजन की भूमि 9 बीघा पक्का व यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण के अलावा भी कई सहखातेदार हैं, पंरतु किसी भी सहखातेदार का हिस्सा तकसीम आज तक किसी भी सक्षम न्यायालय से नही हुआ है। शिकायत पत्र में यह भी अवगत कराया गया है कि इनमें एक सहखातेदार पक्ष के लोगों द्वारा अवैध निमार्ण किए जाने की कोशिशेंं की जा रही हैं। यहां तक की इस सहखातेदार पक्ष के लोगों के द्वारा पिलर लगा कर ताराबंदी तक कर दी गई है। उधर यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण ने इस मामले को गंभीरता से लिया है। यही कारण है कि सीएम योगी का बुल्डोजर यहां गरजता हुआ दिखाई दिया और बाबा शाह फिरोज चिश्ती की दरगाह व उर्स मेले के प्रयोजन की 9 बीघा पक्का भूमि को मुक्त करा लिया गया हैं।