विजन लाइव/गौतमबुद्धनगर

तीनों प्राधिकरण के खिलाफ 18 अक्टूबर को होने वाली महापंचायत को लेकर आज भारतीय किसान यूनियन अराजनैतिक संगठन द्वारा दनकौर क्षेत्र के बल्लू खेड़ा गांव, सलारपुर, अट्टा गुजरान आदि कई अन्य गांवो में पंचायतें आयोजित की गईं। बैठक की अध्यक्षता राजे प्रधान ने की एवं संचालन सुनील प्रधान ने किया। सुनील प्रधान ने गांव के किसान एवं मजदूर लोगों को महापंचायत में पहुंचकर सफल बनाने आग्रह किया। प्रदेश प्रवक्ता एवं मेरठ मंडल अध्यक्ष पवन खटाना ने पंचायत को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश सरकार किसानों की नहीं सुन रही है, पिछले काफी समय से किसान धरने पर हैं और गौतमबुद्धनगर के किसानों को मूलभूत सुविधाएं तथा 64 प्रतिशत मुआवजा, 10 प्रतिशत प्लॉट एवं युवाओं को नौकरी नहीं मिल रही है।  गौतमबुद्धनगर के युवा कंपनियों में नौकरी के लिए भटक रहे हैं और यहां नौकरी नही दी जा रही है जब कि गौतमबुद्धनगर से दूर आगरा, मथुरा व अन्य शहर जो डेढ़ सौ से 200 किलोमीटर दूर की आईडी बनाकर कंपनियों में नौकरी कर रहे हैं। इस क्षेत्र के युवाओं के साथ यह कौन सा दुर्व्यवहार किया जा रहा है, जो गौतमबुद्धनगर के किसान एवं मजदूर लोगों को आईडी के हिसाब से नौकरी नहीं दे रहे? जिलाध्यक्ष अनित कसाना ने कहा कि आने वाली 18 अक्टूबर को सभी किसान भाई अपने हक की लड़ाई के लिए ज्यादा से ज्यादा संख्या में एकत्रित होकर महापंचायत को सफल बनाएं। इस मौके पर राजे प्रधान, धर्मपाल स्वामी, सुंदर खटाना, संदीप खटाना, सुनील प्रधान, भिकारी प्रधान, सुभाष सिलारपुर, विनोद शर्मा, इंद्रेश, ऋषि नागर, रोबिन नागर, चंद्रपाल बाबूजी, शक्ति सिंह, अजब सिंह प्रधान, पीतम अट्टा, देवी राम प्रधान आदि किसान मौजूद रहे।