विजन लाइव/ दनकौर

थाना दनकौर कोतवाली क्षेत्र के बिलासपुर में एक दंपति परिवार अपने 3 वर्षीय पुत्र को लेकर परिवार क्लेश के चलते आत्महत्या के इरादे से जा रहा था, तभी पुलिस की नजर उस दंपति परिवार पर पड़ गई। पुलिस की पूछताछ में दंपति परिवार ने बताया कि वह आत्महत्या करने के लिए घर से निकला था। वही  समझा.बुझाकर पुलिस ने दंपति परिवार  शांत कराया और सूचना के बाद पहुंचे परिजनों के हवाले कर दिया। मिली जानकारी के अनुसार बिलासपुर कसबे में रहने वाला शख्स अपने घर के पास ठेला लगाकर अपने परिवार का भरण पोषण करता था, मगर कोविड 19 के चलते काम नहीं चल रहा था। बेरोजगारी के चलते घर मे क्लेश होने लगा। मंगलवार की सुबह उक्त शख्स  अपनी पत्नी व 3 वर्षीय पुत्र को लेकर खेरली नहर में आत्महत्या करने के उद्देश्य से जा रहे थे। बिलासपुर चौकी में तैनात हेड कॉन्स्टेबल उपदेश सिंह व सिपाही अनुज लाम्बा खेरली नहर तिराहे पर लगने वाले जाम को खुलवा रहे थे। तभी किसी राहगीरों ने पुलिस को सूचना दी कि एक दंपति परिवार अपने पुत्र को लेकर खेरली नहर में कूदने की कोशिश कर रहा है। सूचना मिलते ही हेड कांस्टेबल व सिपाही मौके पर पहुंच गए और दंपति परिवार को आत्महत्या करने से बचा लिया। बिलासपुर चौकी प्रभारी सुंदर सिंह ने बताया कि बेरोजगारी के चलते घरेलू क्लेश होने लगा था,इसकी वजह से वह आत्महत्या के इरादे से घर से निकला था। बाद में पुलिस ने दंपति परिवार से परिजनों का मोबाइल नंबर लिया और उन्हें वाक्ये की जानकारी दी। अब पुलिस ने दंपति परिवार को उनके परिजनों को सुपुर्द कर दिया गया है।