विजन लाइव/ नोएडा 
प्रदेश सरकार द्वारा जारी की गई नई गाइडलाइन से डेढ़ साल बाद एक बार फिर से 700 से अधिक कोचिंग सेंटर शुरू होंगे। सरकार ने घोषणा की है कि कोविड प्रोटोकोल का पालन करते हुए एक बार फिर से कोचिंग सेंटर खोले जा सकते हैं। इसके लिए सभी कोचिंग सेंटर को अपने यहां पर कोविड हेल्प डेस्क बनानी होगी और मास्क तथा सामाजिक दूरी रखना होगी।शहर में सेक्टर-12-22 सबसे महत्वपूर्ण स्थान माना जाता है। इसे शिक्षा का हब भी कहा जाता है, क्योंकि यहां सर्वाधिक कोचिंग सेंटर है। यहीं पर स्थित कोचिंग सेंटर के प्रिंस शर्मा ने बताया कि शहर में उनके तीन सेंटर थे। तीनों भाई अलग-अलग सेक्टरों में कोचिंग चलाते थे। संक्रमण के चलते घरों में होम कोचिंग पढ़ा रहे थे, लेकिन अब फिर से कोचिंग सेंटर प्रारंभ करेंगे।

सेक्टर 49 में कोचिंग सेंटर संचालित करने वाले रमेश ने बताया कि कोचिंग बंद होने से उन्हें फेस-टू स्थित कंपनी में नौकरी करनी पड़ रही थी, लेकिन अब वह फिर से कोचिंग सेंटर शुरू करेंगे। सेक्टर-18 में कोचिंग सेंटर संचालित करने वाले जितेंद्र यादव ने बताया कि संक्रमण से कोचिंग में पढ़ने वाले बच्चों में भी 90 प्रतिशत से अधिक की कमी आई थी। इन दिनों कोचिंग भी ऑनलाइन ही क्लास दे रहे थे। इसको लेकर छात्रों में उत्साह नहीं था, लेकिन अब फिर से कोचिंग सेंटर खुलेंगे तो वहां पर छात्र-छात्राएं आएंगे।