पेट्रोल,डीजल, रसोई गैस की बढ़ती महंगाई के खिलाफ केंद्र व उत्तर प्रदेश की गूंगी बहरी सरकार के विरोध मे गौतमबुद्धनगर कांग्रेस कमेटी का दुर्गा टाकिज चौक सुरजपुर से कलेक्ट्रेट सूरजपुर तक, था पैदल.मार्च

 


यूपी में महंगाई जैसे जनहित के मुद्दे पर भी धरना प्रदर्शन न किया जाना एक तरह से लोकतंत्र की हत्या किए जाने के सामानः मनोज चौधरी

विजन लाइव/गौतमबुद्धनगर

0प्र0 कांग्रेस कमेटी की प्रभारी व महासचिव प्रियंका गांधी व उत्तर प्रदेश अध्यक्ष  अजय कुमार लल्लू के निर्देश पर पेट्रोल,डीजल, रसोई गैस की बढ़ती महंगाई के खिलाफ केंद्र व उत्तर प्रदेश की गूंगी बहरी सरकार के विरोध मे दुर्गा टाकिज चौक सुरजपुर से कलेक्ट्रेट सूरजपुर तक पैदल.मार्च किया जाना था। किंतु इससे पहले ही पुलिस ने गौतमबुद्धनगर कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष मनोज चौधरी को उनके तुगलपुर स्थित आवास पर सुरक्षा घेरे में लिया। पुलिस ने नजरबंद किए जाने पर गौतमबुद्धनगर कांग्रेस जिलाध्यक्ष मनोज चौधरी ने कहा कि उ0प्र0 कांग्रेस कमेटी की प्रभारी व महासचिव प्रियंका गांधी व उत्तर प्रदेश अध्यक्ष  अजय कुमार लल्लू के निर्देश पर पेट्रोल,डीजल, रसोई गैस की बढ़ती महंगाई के खिलाफ केंद्र व उत्तर प्रदेश की गूंगी बहरी सरकार के विरोध मे दुर्गा टाकिज चौक सुरजपुर से कलेक्ट्रेट सूरजपुर तक शांतिपूवर्क पैदल.मार्च किया जाना था। किंतु गौतमबुद्धनगर पुलिस प्रशासन सरकार के इशारे पर काम कर रहा है। आज प्रातः जब वह पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों के खिलाफ जिला मुख्यालय पे धरना देने जा रहे थे, अचानक भारी संख्या में पुलिस आ धमका और सुरक्षा घेरे में लिया गया। उन्होंने कहा कि इस तरह से घर पर पुलिस द्वारा नजरबंद किया जाना, ये तानाशाह सरकार का कृत्य है। उन्होंने कहा कि लोकतांत्रिक  प्रणाली में प्रत्येक को धरना प्रदर्शन के जरिए अपने बात कहने का और अपनी बात मनवाने का अधिकार है। किंतु अब तो यूपी में महंगाई जैसे जनहित के मुद्दे पर भी धरना प्रदर्शन न किया जाना एक तरह से लोकतंत्र की हत्या किए जाने के सामान है। जनता यूपी सरकार के इस जनविरोधी कदम को कतई बर्दाश्त नही करेगी और आने वाले विधानसभा चुनाव-2022 में भाजपा को मुंहू की खानी पडेगी। उन्होंने कहा कि जब से भाजपा सरकार यूपी में आई है, बेतहाशा महंगाई लाई है। पिछले एक साल में महगाई ने अपने सारे रिकॉर्ड तोड़ने के साथ साथ आम जनता की कमर भी तोड़ दी है। भाजपा की केंद्र व राज्य सरकार इस और आंखे मूंदकर व कानों में रुई डाल कर बैठी हुई है। जनता पट्रोल, डीज़ल, गैस व खाद्य पदार्थों की बेतहाशा बढ़ोतरी से परेशान है। कांग्रेस हर दिन सरकार को जगाने का काम कर रही है, लेकिन यह सरकार ढीठ हो चुकी है। अब यह मामला जनता की अदालत में है और फैसला उसी को करना होगा कि ऐसी सरकार को उखाड़ फेंकें। कांग्रेस ही है जो पिछले सालों से जनता की आवाज बनकर सड़क पर उतरी हुई है।