12037 रीडिंग के बिल 143868 का मामला सीएम दरबार में पहुंचा


 बिल संशोधन न किए जाने पर दनकौर बिजली घर का घेराव किए जाने का ऐलान

 



 



बिजली उपभोक्ता को 12037 रीडिंग का बिल भेजा 143868

 



  मीटर मेंं महज रीडिंग 3712 मिलने विद्युत विभाग की पेशोपेश की स्थिति

 


मौहम्मद इल्यास-’’दनकौरी’’/ग्रेटर नोएडा

-----------------------------------------दनकौर कसबे में बिजली विभाग का बिल को लेकर नया कारनामा प्रकाश में आया है। विद्युत उपभोक्ता का बिल मनमाने तरीके से कई गुना भेज दिया गया। विद्युत उपभोक्ता को पहले 12037 रीडिंग का बिल 1 लाख 43 हजार 8 सौ 68 रूपया थमा दिया गया। इस बात की शिकायत उपभोक्ता द्वारा सीएम जनसुनवाई पोर्टल पर की गई। किंतु विद्युत अधिकारियों ने एक कदम और आगे बढते हुए निस्तारण क्रम में आख्या प्रस्तुत करते हुए कागजी निपटारा भी कर डाला। करीब 2 महीने बाद ही बिजली विभाग ने अपनी इस करतूत को छिपाने की गरज से उपभोक्ता का मीटर यह कहते हुए उतार लिया कि बकाया बिल जमा नही किया गया है। यह गलत बिल भेजे जाने की बात भी उसी समय उजागर हुई जब मीटर उतारने जाने के समय मीटर सीलिंग प्रमाण पत्र में दिनांक 22/07/2021 को रीडिंग महज 3712 दर्शांई गई। बिजली विभाग के कारनामें की पोल खुल जाने पर अब पीडित उपभोक्ता ने इस मामले में राष्ट्रीय हिंदू संघ के मेरठ मंडल-अध्यक्ष राधेश्याम प्रजापति का सहारा लिया है। उधर राष्ट्रीय हिंदू संघ के मेरठ मंडल-अध्यक्ष राधेश्याम प्रजापति ने मुख्यमंत्री और अधिशासी अभियंता विद्युत वितरण खंड ग्रेटर नोएडा को पत्र लिख कर बिल संशोधन न करने को लेकर शिकायत दी है। पत्र में राष्ट्रीय हिंदू संघ के मेरठ मंडल-अध्यक्ष राधेश्याम प्रजापति ने मुख्यमंत्री और अधिशासी अभियंता विद्युत वितरण खंड ग्रेटर नोएडा को अवगत कराते हुए मांग की है कि पीडिंत उपभोक्ता का बिल सही कराया जाए और दोषी विद्युत अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही अमल में लाई जावे। दनकौर निवासी सोहनपाल पुत्र चतरी एक गरीब और बेसहारा व्यक्ति है और जिसका अकांउट नंबर 771720621763 कनेक्शन संख्या 19668 और जिसका मीटर संख्या 56469219 है। बताया गया है कि उपभोक्ता सोहनपाल कुछ दिनों के लिए परिवार समेत बाहर चला गया और मीटर मकान के अंदर ही लगा हुआ था। जब उपभोक्ता वापस आया तो उसे भारी भरकम बिल पकडा दिया गया। उपभोक्ता सोहनपाल को जो बिल थमाया गया उसमें रीडिंग 12037 थीं और कुल बिल 1 लाख 43 हजार 8 सौ 68 रूपया का था। इस भारी भरकम बिल और साथ ही रींडंग को देख कर उपभोक्ता के होश उड गए। इस बात की शिकायत बिजली उपभोक्ता द्वारा संबंधित अधिकारियों से की गई मगर मामला जस का तस ही साबित हुआ। आखिर उपभोक्ता सोहनपाल की ओर से इस पूरे मामले की शिकायत मुख्यमंत्री जनसुनवाई पोर्टल पर की गई। तत्पश्चात इस मामले का निस्तारण भी विद्युत विभाग द्वारा एक झटके में दिनांक 27/05/2021 को कर दिया। उपखंड अधिकारी द्वारा आख्या रिपोर्ट में कहा गया कि शिकायतकर्ता का बिल जो खराब आ रहा था उक्त उपभोक्ता का बिल विभागीय नियमानुसार संशोधन कर दिया गया है। उक्त िर्शकायत निस्तारण योग्य है अतः शिकायत निस्तारण करने की कृपा करें। इन सबके बावजूद दिनांक 22/07/2021 को बिजली उपभोक्ता का मीटर यह कहते हुए उतार लिया कि उच्चाधिकारियों के आदेशानुसार विद्युत बिल जमा न करने पर मीटर व केबिल उतार लिया है। मीटर सीलिंग प्रमाण पत्र में रीडिंग महज 3712 दर्शाईं गई हैं। इस कारनामे की पोल खुल जाने पर राष्ट्रीय हिंदू संघ के मेरठ मंडल-अध्यक्ष राधेश्याम प्रजापति ने बिजली उपभोक्ता सोहनपाल द्वारा मद्द की दरकार पर मुख्यमंत्री और अधिशासी अभियंता विद्युत वितरण खंड ग्रेटर नोएडा को पत्र लिख कर बिल संशोधन न करने को लेकर शिकायत दी है। शिकायत में राष्ट्रीय हिंदू संघ के मेरठ मंडल-अध्यक्ष राधेश्याम प्रजापति ने दनकौर बिजली घर का घेराव किए जाने का ऐलान करते हुए कहा है कि बिजली विभाग लखनऊ और मेरठ मंडल के संबंधित अधिकारियों को वाट्सअप नंबर व ईमेल द्वारा अवगत कराया गया है और बिल निस्तारण किए जाने की मांग की गई,यदि उपभोक्ता का बिल संशोधन तत्काल ही नही किया गया तो बिजली घर दनकौर का घेराव किए जाने पर मजबूर होना पडेगा।