श्रीराम मंदिर निर्माण में भूमि घोटाले की जांच की मांग को लेकर महानगर काँग्रेस कमेटी ने सिटी मजिस्ट्रेट को ज्ञापन सौंपा

 विजन लाइव/गौतमबुद्धनगर

श्रीराम मंदिर निर्माण में हुए संदिग्ध भूमि घोटाले की जांच की मांग को लेकर महानगर काँग्रेस कमेटी के पदाधिकारियों ने अध्यक्ष शहाबुद्दीन के नेतृत्व में सिटी मजिस्ट्रेट के माध्यम से राष्ट्रपति के नाम संबोधित एक ज्ञापन सौंपा। महानगर काँग्रेस अध्यक्ष शहाबुद्दीन ने ज्ञापन सौंपते हुए बताया कि लोगों ने अपने खून पसाने की कमाई श्रीराम मंदिर के भव्य निर्माण के लिए दान की है और अब पता चल रहा है कि कुछ लोग इस दान की गई रकम को हड़पना चाहते हैं। तीन दिन पहले ऐसे ही रामजन्म भूमि ट्रस्ट एवं भाजपा से जुड़े नेता का नाम भूमि घोटाले में आ रहा है। उन्होंने कहा कि इस भूमि प्रकरण की पारदर्शिता और निष्पक्षता से जांच होनी चाहिए कि की कैसे ढाई करोड़ की जमीन 18.50 करोड़ में हो गई। जिला कांग्रेस प्रभारी सुनील बिशनोई ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद भव्य राम मंदिर का निर्माण हर भारतीय चाहता है, लेकिन इसमें भी आरएसएस व भाजपा के लोग घोटाला करके देरी कर रहे हैं। कांग्रेस की मांग है कि मंदिर का निर्माण इन घोटालों की वजह से बाध्य नहीं होना चाहिए। केंद्र व राज्य सरकार से अपेक्षा है कि वह रामजन्म भूमि ट्रस्ट द्वारा खरीदी गई सभी संपत्तियों की जांच सीबीआई और ईडी से कराए, जिससे दूध का दूध और पानी का पानी हो जाए। प्रवक्ता पवन शर्मा ने भी कहा कि अब संत समाज भी इस भूमि घोटाले को लेकर अपनी नाराजगी जाहिर कर चुका है तथा उन्होंने भी निष्पक्ष एजेंसी से जांच की मांग की है। भाजपा इस मामले को फिर से धुर्वीकरण की कोशिश में लगी है। प्रदर्शन में शामिल पदाधिकारियों में शहाबुद्दीन, सुनील बिशनोई, राजेंद्र अवाना, दिनेश अवाना, पवन शर्मा, पुरुषोत्तम नागर, फिरे सिंह नागर, लियाकत चौधरी, प्रमोद शर्मा, रामकुमार तंवर, गौतम अवाना, यतेंद्र शर्मा, चरण सिंह यादव, ललित अवाना, दानिश सैफी, दयाशंकर पांडेय, रामकुमार शर्मा, राजन बिष्ठ, संजय तनेजा, राजकुमार मोनू,सोबी यादव, जावेद खान,जितेंद्र शर्मा, हरेंद्र शर्मा, नेहा सिंह, नौशाद अली, उपदेश श्रीवास्तव, कपिल चौहान, हबेर नाथेनियल, इरफान, किसन लाल आदि कार्यकर्तागण उपस्थित रहे।