गौतमबुद्धनगर सैफी संघर्ष समिति( पंजीकृत ) के जिलाध्यक्ष अयुब खान सैफी ने भी अशफाक सैफी को उत्तर प्रदेश अल्पसंख्यक आयोग का चेयरमैन नियुक्त किए जाने पर खुशी व्यक्त की 

 




पहली बार यूपी की योगी सरकार ने सैफी समाज से अशफाक सैफी को अल्पसंख्यक आयोग का चेयरमैन बना कर दिया है, सम्मानः अयुब खान सैफी

 


विजन लाइव/गौतमबुद्धनगर

उत्तर प्रदेश अल्पसंख्यक आयोग के चेयरमैन के रूप में यूपी की महंत योगी आदित्यनाथ सरकार ने अशफाक सैफी की ताजपोशी की है। इससे यूपी की सैफी बिरादारी के साथ साथ मुस्लिममों में खुशी की लहर पैदा हो गई है। गौतमबुद्धनगर सैफी संघर्ष समिति( पंजीकृत ) के जिलाध्यक्ष अयुब खान सैफी ने भी अशफाक सैफी को उत्तर प्रदेश अल्पसंख्यक आयोग का चेयरमैन नियुक्त किए जाने पर खुशी व्यक्त की है और इसे सैफी समाज का सम्मान बताया है। सैफी संघर्ष समिति (पंजीकृत ) के जिलाध्यक्ष अयुब खान सैफी ने इस मौके पर कहा है कि अशफाक सैफी के अल्पसंख्यक आयोग के चेयरमैन बनने से पूरे उत्तर प्रदेश में ही नहीं सैफी समाज में भी खुशी का माहौल है। पहले कभी किसी सरकार यूपी में इस तरह सैफी समुदाय से किसी व्यक्ति को इस तरह किसी भी आयोग का चेयरमैन बना कर सम्मान नही दिया, पहली बार यूपी की योगी सरकार ने सैफी समाज से अशफाक सैफी को अल्पसंख्यक आयोग का चेयरमैन बनाया है। उन्होंने कहा कि  यूपी की भाजपा सरकार की कथनी और करनी में कोई अंतर नही है। भाजपा सरकार मुसलमानों की हितेषी है और आज उसी बात का परिणाम भाजपा सरकार ने सैफी समाज के अशफाक सैफी को चेयरमैन बनाकर दे दिया है। जब कि दूसरे सभी राजनैतिक दल सैफी बिरादरी ही नही बल्कि पूरे देश के मुसलमानों को एक वोट बैंक के रूप में ही इस्तेमाल करते आए हैं। किंतु भाजपा ही एक मात्र ऐसी पार्टी जो टोपी ही नही बल्कि रोटी और रोजी की राजनीति में विश्वास करती है। दूसरे राजनीतिक दलों की तर्ज पर भी भाजपा ने मुसलमानों को छलने का काम नही किया है। उन्होंने कहा कि यूपी अल्पसंख्यक आयोग के नवनियुक्त चेयरमैन आगरा निवासी अशफाक सैफी साथ 7 सदस्य भी बनाए हैं। अशफाक सैफी कई वर्षो से भाजपा से जुड़े हैं व भाजपा के वार्ड अध्यक्ष, मंडल अध्यक्ष, अल्पसंख्यक मोर्चा अध्यक्ष, राष्ट्रीय मंत्री, भाजपा प्रदेश कार्यसमिति सदस्य के दायित्वों का निर्वहन कर चुके हैं। वर्तमान में वह मौलाना आजाद एजुकेशनल फाउंडेशन भारत सरकार अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय के उपाध्यक्ष हैं।